शनिवार से सूरत में साढ़े चार लाख लूम्स मशीनें बंद, स्वैच्छिक लॉकडाउन

सूरत शहर में कोरोना के कारण बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे है। प्रतिदिन बीस से पच्चीस लोगों की मौत हो रही है। ऐसे में संक्रमण की तीव्र गति को रोकने के लिए राज्य सरकार की ओर से पांच मई तक व्यावसायिक केंद्र बंद रखने के आदेश के कारण कपड़ा मार्केट की दुकानें बंद होने के बाद अब विवर्स भी बंद करेंगे।

शुक्रवार को फैडरेशन ऑफ गुजरात वीवर्स एसोसिएशन ने 15 मई तक सभी पावरलूम्स यूनिटें बंद रखने का फैसला किया है। इसके चलते लगभग साढ़े चार लाख लूम्स शनिवार से बंद हो जाएँगे।यह निर्णय फोग्वा ने शहर के उधना, बमरोली, पांडेसरा, कतारगांव, वेडरोड, वराछा, लिंबायत आदि के वीवर्स संगठनों के साथ आवश्यक बैठक कर
वीवर्स संगठनों की सहमति से किया है।

इस संबंध में फोग्वा के प्रमुख अशोक जीरावाला ने बताया कि शहर समेत आसपास की मौजूदा परिस्थिति कोरोना महामारी से हाहाकार मचा हुआ है और राज्य सरकार ने 28 अप्रेल से 5 मई तक सूरत कपड़ा मंडी व अन्य व्यावसायिक केंद्रों को बंद रखने के आदेश दिया हुआ है।

फोग्वा ने शुक्रवार को कोरोना महामारी की चेन तोडऩे में प्रशासनिक सहयोग के उद्देश्य से सूरत महानगरपालिका की सीमा में स्थित सभी पावरलूम्स यूनिटों को एक मई से 15 मई तक बंद रखने का निर्णय किया है। हालाँकि सचिन जीआईडीसी के उद्यमियों ने इसके पहले ही 1000 रैपियर लूम्स बंद कर दिए थे। दूसरी ओर कुछ बड़े यूनिट वाले कपड़ा विवर ने बंद से इन्कार किया।

कई कपड़ा व्यापारी आर्थिक तंगी से परेशान, सरकार करे मदद तो बने बात


पिछले साल कोरोना के कारण करोड़ो रुपए का नुकशान कर सूरत का कपड़ा व्यापार जैसे ही अपनी सॉस स्थिर कर रहा था,कि फिर से कोरोना के तूफान ने सूरत के स्थिर हो रहे कपड़ा बाजार की गाड़ी को गर्त में ढकेल दिया है। पिछले साल भी कोरोना के कारण लग्नसरा,रमजान,रक्षाबंधन का व्यापार चौपट हो गया था।

इस साल भी ठीक उसी समय पर कोरोना ने व्यापार को ठेस पहुंचाई है। कई व्यापारियों ने लग्नसरा के लिए बड़े पैमाने पर कपड़ो की खरीद की थी, लाखो रूपए निवेश कर साडी और ड्रेस का स्टोक किया था। बीते साल तगड़ा नुकशान झेल चुके व्यापारियों के इस साल व्यापार से नकुशान भरपाई की उम्मीद थी. लेकिन उस पर पानी फिर गया। सूरत में कोरोना के कारण एक महीने पहले से अन्य राज्यों के व्यापारियों ने आना बंद कर दिया था। इससे व्यापार आधा हो गया था, लेकिन जैसे तैसे चल रहा था।

इसके बाद अब तो लॉकडाउन लगा देने के कारण व्यापार पूरा चौपट हो गया है। यूपी, बिहार,झारखंड, उत्तराखंड सहित देश के कई राज्यों में लग्नसरा में अच्छा व्यापार होता है लेकिन यहां भी कोरोना ने भयंकर रूप धारण किया है। इसलिए शादी ब्याह रद हो रहे हैं। जो शादियां हो रही है वह भी बहुत कम लोगों के बीच इसलिए साडी और ड्रेस का कारोबार कम हो गया है। इस परिस्थिति के कारण अन्य राज्यों के व्यापारियो की ओर से खरीद तो घटी है लेकिन साथ ही पेमेन्ट भी रूक गया है।

अन्य राज्यों के व्यापारी भी कई स्थानों पर कोरोना संक्रमित होने से ड़र के मारे नए ऑर्डर नहीं दे रहे और पेमेन्ट में लेट कर रहे है। यहां सूरत के व्यापारियों के लिए विवर्स, प्रोसेसर्स, एम्ब्रॉयडरी संचालक और श्रमिकों का वेतन देना मुश्किल हो रहा है। कई व्यापारियों के होम लोन, बिजनेस लोन, कार लोन आदि भी चल रहे हैं उनकी हालत तो भगवान ही समझ सकते  हैं। यदि कोरोना का कहर यथावत रहा तो कपड़ा व्यापारियों के लिए संभल पाना मुश्किल होगा। सरकार को व्यापारियों के लिए कोई योजना का विचार करना चाहिए।

हीराश्रमिकों के वेतन के साथ हीरा उद्योग में लॉकडाउन की मांग!


डायमंड वर्कर यूनियन ने शुक्रवार को कलक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन देकर सूरत मे हीरा उद्योग में लॉकडाउन लगाने के साथ हीरा श्रमिकों को 15 दिन का वेतन देने की मांग की है। 


डायमंड वर्कर यूनियन के प्रमुख रमेश जिलरिया ने ज्ञापन के माध्यम से बताया कि सूरत के हीरा उद्योग में पिछले लॉकडाउन के दौरान हीरा उद्यमियों को कोई आर्थिक सहायता नहीं मिलने के कारण वह परेशान हो गए थे। इस बार भी सूरत में कोरोना ने विकराल रूप ले लिया है।

इसलिए हीरा श्रमिकों को पन्द्रह दिन का वेतन देकर लॉकडाउन लगा देना चाहिए। हीरा उद्योग में काम करने वाले श्रमिक बहुत नजदीक-नजदीक में बैठते हैं। इसलिए संक्रमण तेजी से फैलने का भय है। परिस्थिति को समझते हुए हीरा उद्योग में लॉकडाउन लगाने की जरूरत है। यदि एक बार हीरा उद्यमियों में संक्रमण फैलने लगा को नियंत्रण पाना मुश्किल होगा। 


उल्लेखनीय है कि पिछले साल लॉकडाउन के दौरान हीरा श्रमिकों को वेतन नहीं दिया गया था। इस बारे में डायमंड वर्कर यूनियन ने श्रम विभाग, शहर पुलिस कमिश्नर सहित राज्य सरकार को पत्र देकर हीरा श्रमिकों को लॉकडाउन के दिनों का वेतन दिलाने के लिए कड़ा संघर्ष किया था। 

कोरोना पीड़ित महिला के साथ रात के समय दुष्कर्म

राजकोट की एक महिला ने उपचार के दौरान उस पर बलात्कार का मामला पुलिस में दर्ज करवाया है।पुलिस ने आरोपी के ख़िलाफ़ जाँच शुरू कर दी है।


मिली जानकारी के अनुसार लक्ष्मीनगर क्षेत्र में रहने वाली महिला कुछ दिनों पहले कोरोना के कारण उपचार के लिए होस्पिटल में दाखिल हुई थी। इस दौरान एक दिन महिला ने अपने परिवारजनों फोन करके कहा कि तुम मुझे यहां से नहीं चलो नहीं तो यह मुझे इंजेक्शन देकर मार डालेंगे।

यह सुनकर उसके परिवार जन दौड़े आए थे महिला ने बताया कि रात के समय में वहां पर एक अजनबी शख्स ने उसके साथ शारीरिक स्पर्श करने के बाद रात के समय दुष्कर्म किया। हालांकि अब इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने इस घटना में वार्ड में उपस्थित अन्य मरीजों और स्टाफ से पूछताछ शुरू की है।


 पुलिस को इस बारे में कॉन्ट्रैक्ट पर काम करने वाले अटेंडेंट हितेश जाला पर शक होने से पुलिस ने उसकी पूछताछ शुरू की है। महिला को श्वास में तकलीफ होने के कारण उसे ऑक्सीजन की आवश्यकता थी जब उसे उपचार की जरूरत थी तब उसके साथ हुई दुर्घटना के चलते पूरे हॉस्पिटल में मानवता शर्मसार हो गई है। राजकोट सिविल अस्पताल प्रशासन ने इस गंभीर मामले में उच्च स्तरीय कमेटी का गठन करके जांच शुरू कर दी है। साथ ही यह कहा है कि घटना में दोषी पाए जाने वाले के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस तरह की घटना अन्य शहर से भी एक बार आ चुकी है।

हीरा बाजार में पचास प्रतिशत स्टाफ़ के साथ खोल सकेंगे ऑफिस, ट्रेडिंग पर रोक

महिधरपुरा हीरा बाजार में ट्रेडिंग कारोबार बंद रखा जाए लेकिन मैन्युफ़ैक्चरिंग काम को जारी रखने के लिए सूरत डायमंड ब्रोकर एसोसिएशन ने गुहार लगाई थी। इस पर अनुमति मिल गई है। इसके बाद कार्यालय को 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ खोला जा सकेगा।हालांकि, इसके लिए पुलिस की मंजूरी लेनी होगी।

महिधरपुरा हीरा बाजार में गुरूवार को सुबह पुलिस ने बंद करवा दिया था। इस दौरान कई हीरा उद्यमियों और पुलिस के बीच बहस भी हो गई थी। सूरत डायमंड ब्रोकर एसो की मध्यस्थता के माध्यम से मामला पुलिस के ध्यान में लाया गया। इसके बाद पुलिस ने 50 प्रतिशत स्टाफ़ के साथ छूट दी है।

हालाँकि कारखाना संचालक को इसके लिए परमीशन लेनी होगी। साथ ही बिन जरूरी कारख़ाने के बाहर श्रमिकों को जाना मना है। समूह में इकट्ठा भी नहीं होना है। एक बार कारख़ाने में जाने के बाद बार-बार अंदर बाहर नहीं कर सकेंगें।इस नियम का कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया गया है कि हीरो की ट्रेडिंग का कारोबार नहीं होगा।

अगर कोई भी बाजार में कारोबार करता पकड़ा गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। हीरे के दलाल का कार्ड भी जब्त किया जा सकता है। सूत्रों ने बताया कि इस बीच, महिधरपुरा हीरा बाजार में लगभग 50 प्रतिशत कार्यालय दोपहर में फिर से खोल दिए गए।

बंद होने लगे लूम्स यूनिट और डाइंग प्रोसेसिंग मिल

कपड़ा उद्योग में बंद हो रहे लूम्स कारखाने और डाइंग प्रोसेसिंग यूनिट
कोरोना के संक्रमण से देश के अधिकांश राज्यों में मिनी-लॉकडाउन जैसी स्थिति हो गई है, जिससे शहर का कपड़ा उद्योग  बुरी तरह से प्रभावित होगा। अन्य राज्यों में रिटेल में व्यापार कमजोर होने के कारण सूरत के व्यापारियों को ऑर्डर और पेमेन्ट नहीं मिल रहा हैं। टेक्सटाइल मिलों के 25% और रैपर जैक्वार्ड की 1000 से अधिक बुनाई इकाइयों को बंद कर दिया गया है और उनके कारीगरों को वापस भेज दिया गया है।


महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, यूपी समेत कई राज्य कोरोना की दूसरी लहर शूरू हो चुकी हैं। प्रतिदिन लाखों कोरोना मामले सामने आ रहे हैं। महाराष्ट्र में 15 मई तक लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। मध्य प्रदेश और यूपी सहित अन्य राज्यों में भी मिनी-लॉकडाउन शुरू है। गुजरात में 5 मई तक मिनी लॉकडाउन लागू किया गया है। अधिकांश राज्यों में खुदरा बाजार बंद हो गए हैं। जहां खुला है, वहां व्यापार 10 से 15 प्रतिशत पर बना हुआ है। इसका असर कपड़ा बाजार पर पड़ा है।

सामान्य दिनों में सूरत में प्रतिदिन 2.50 करोड़ मीटर कपड़ा का उत्पादन होता है, जो अन्य राज्यों में भेजा जाता है, लेकिन पिछले एक महीने में मांग 80 से 85 प्रतिशत तक गिर गई है। कोई नया ऑर्डर नहीं मिला। पुराने ऑर्डर भी रद्द करने पड़े है। व्यापारियों का कहना है कि अन्य राज्यों से पेमेन्ट भी नही आ रहा है। इसलिए व्यापारी, विवर्स और प्रोसेसरों की हालत गंभीर हो गई है।


 शहर में 350 डाइंग मिल और शहर में 10,000 से अधिक रैपर जैक्वार्ड मशीनें हैं, लेकिन कपड़ा बाजार बंद होने के कारण अब इनमें से ज्यादातर यूनिटें बंद होने के कगार पर हैं। सचिन विवर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष महेंद्र रामोलिया ने कहा कि आदेशों की अनुपलब्धता के कारण आर्थिक नुकशान हो रहा है। माल का स्टोक करना पड़ रहा है। रखरखाव और लागत कीमत भी नहीं निकल रही। इसलिए, अकेले सचिन जीआईडीसी में, लगभग 1 हजार रैपर जैक्वार्ड बुनाई इकाइयों को बंद कर दिया गया है। कारीगरों को घर भेज दिया गया है।


इस संबंध में, दक्षिण गुजरात टेक्सटाइल प्रोसेसर्स एसोसिएशन के जीतू वखारिया ने कहा कि अन्य राज्यों में तालाबंदी से सूरत में मिलों पर असर पड़ा है। 350 में से केवल 60 मिलें 25 फीसदी जॉबवर्क पर चल रही हैं। अन्य मिलें सप्ताह में 3 से 4 दिन बंद रहती हैं।


कोरोना को जल्द नियंत्रण में लाना अनिवार्य हो गया है, अन्यथा पिछले साल की तरह व्यापार-उद्योग को भारी नुकसान होने का खतरा है। इसी तरह सामान्य लूम्स कारखानों में भी श्रमिको की कमी के कारण अब तक सप्ताह में दो दिन कारखाने बंद रखने पड़ रहे थे, लेकिन अब कपड़ा बाजार बंद होने से कई संचालक कारखाने बंद करने की सोच रहे।

स्पाइट जेट की फ्लाइटें मई तक के लिए स्थगित

सूरत शहर सहित देश के कई बडे़ शहरो में कोरोना के कारण परिस्थिति लगातार बिगड रही होने से विमानी कंपनियों को यात्री नहीं मिल रहे। इसके कारण विमानी कंपनियां अपनी उडाने रद कर रही है। पिछले दिनों एक विमानी कंपनी ने सूरत से कुछ शहरों की फ्लाइट रद करने के बाद अब स्पाइस जेट ने भी 1 मई से अपनी तमाम फ्लाइट बंद करने का फैसला लिया है।

वी वर्क फोर वर्किंग ग्रुप से मिली जानकारी के अनुसार स्पाइस जेट आगामी 1 मई से सूरत एयरपोर्ट से अपनी तमाम फ्लाइट बंद करने का फैसला लिया है। हालाकि कार्गो मुवमेन्ट जारी रहेगा। मई महीने में 20 तारीख को क्या परिस्थिति है इसके बाद आगे का फैसला किया जाएगा। तब तक के लिए विमानी कंपनी की ओर से स्पाइस जेट ने लेह से दिल्ली और सूरत आने वाली फ्लाइट एसजी 124 और 8473 को 20 जूनतक के लिए स्थगित कर दी है।

उल्लेखनीय है कि जिस तरह से सूरत में कोरोना फैल रहा है। इस कारण सूरत में व्यापार उद्योग भी बंद सा हो गया है। सूरत के कपड़ा बाजार को बंद करने का फैसला किया गया है। इस कारण अन्य राज्यों के व्यापारियों का आना-जाना बंद हो गया है।

इसका असर भी यात्रियों की संख्या पर पड़ा है। पिछली बार लॉकडाउन के बाद जैसे तैसे गाडी पटरी पर चढ रही थी कि कोरोना ने फिर से मामला गड़बड़ कर दिया है। सभी विमानी कंपनियां अपनी फ्लाइटें शुरू रखने को लेकर चिंता में हैं।

यात्रियों की माँग को देखते हुए 17 स्‍पेशल ट्रेनों के फेरे विस्तारित किए गए!


यात्रियों की सुविधा और उनकी मांग को पूरा करने के लिए पश्चिम रेलवे द्वारा बांद्रा टर्मिनस-गाजीपुर सिटी-वलसाड के बीच स्‍पेशल ट्रेन तथा गांधीधाम से कोलकाता के लिए एक फेरे का परिचालन विशेष किराये के साथ करने का निर्णय लिया गया है। साथ ही 17 और स्‍पेशल ट्रेनों के फेरों को भी विस्‍तारित कर दिया गया है।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, यात्रियों की सुविधा तथा अतिरिक्‍त भीड़ के समायोजन के लिए पश्चिम रेलवे द्वारा नियमित ट्रेनों के अलावा विशेष ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। इन विशेष ट्रेनों का विवरण नीचे दिया जा रहा है।

ट्रेन नंबर 09123/09124 बांद्रा टर्मिनस-गाज़ीपुर सिटी-वलसाड सुपरफ़ास्ट स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ (2 फेरे)

ट्रेन नंबर 09123 बांद्रा टर्मिनस-गाजीपुर सिटी सुपरफास्ट स्पेशल सोमवार, 3 मई, 2021 को बांद्रा टर्मिनस से 11.15 बजे प्रस्थान करेगी और अगले दिन 22.00 बजे गाजीपुर सिटी पहुंचेगी। इसी तरह, ट्रेन नंबर 09124 गाजीपुर सिटी -वलसाड सुपरफास्ट स्पेशल बुधवार, 5 मई, 2021 को 01.20 बजे गाजीपुर सिटी से रवाना होगी और अगले दिन 08.20 बजे वलसाड पहुंचेगी। यात्रा के दौरान ट्रेन नंबर 09123 बोरीवली, वापी, सूरत, वड़ोदरा, रतलाम, कोटा, सवाई माधोपुर, भरतपुर, अछनेरा, मथुरा जं., कासगंज, फर्रुखाबाद, कानपुर सेंट्रल, लखनऊ, सुल्तानपुर, जौनपुर सिटी, वाराणसी और औंडि़हार जं. स्टेशनों पर रुकेगी। वापसी में ट्रेन नंबर 09124 वलसाड स्टेशन तक जाएगी तथा गाजीपुर सिटी से सूरत के बीच हॉल्‍ट्स समान होंगे। इस ट्रेन में एसी 3 टीयर एवं स्लीपर क्‍लास कोच शामिल हैं।

ट्रेन नंबर 09417 गांधीधाम-कोलकाता सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ (एक फेरा)

ट्रेन नंबर 09417 गांधीधाम-कोलकाता सुपरफास्ट स्पेशल शनिवार, 1 मई, 2021 को गांधीधाम से 06.00 बजे प्रस्थान करेगी और सोमवार को 04.00 बजे कोलकाता टर्मिनल पहुंचेगी। यात्रा के दौरान यह ट्रेन भचाऊ, सामाखियाली, अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत, नंदुरबार, जलगाँव, भुसावल, अकोला, बडनेरा, वर्धा, नागपुर, गोंदिया, दुर्ग, रायपुर, बिलासपुर, झारसुगुड़ा, राउरकेला, रांची, बोकारो स्टील सिटी, धनबाद, आसनसोल मेन, बर्धमान एवं बंडेल स्टेशनों पर ठहरेगी। इस ट्रेन में एसी 3 टियर, स्लीपर क्लास और सेकंड क्‍लास सीटिंग कोच शामिल हैं।

निम्नलिखित ट्रेनों के फेरों को विस्‍तारित किया गया है

• ट्रेन नंबर 09099/09100 बांद्रा टर्मिनस- मऊ जंक्शन स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ बांद्रा टर्मिनस से मंगलवार, 4 मई, 2021 को तथा मऊ जंक्शन से गुरुवार, 6 मई, 2021 को विस्तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09049/09050 मुंबई सेंट्रल- समस्तीपुर स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ मुंबई सेंट्रल से 1, 3, 4 एवं 6 मई, 2021 को तथा समस्‍तीपुर से 3, 5, 6 एवं 8 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09073/09074 बांद्रा टर्मिनस- गोरखपुर स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ बांद्रा टर्मिनस से 2, 5 एवं 6 मई, 2021 को तथा गोरखपुर से 4, 7 एवं 8 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09061/09062 बांद्रा टर्मिनस- बरौनी जं. स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ बांद्रा टर्मिनस से सोमवार, 3 मई, 2021 को तथा बरौनी जं. से गुरुवार, 6 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09175/09176 मुंबई सेंट्रल- भागलपुर स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ मुंबई सेंट्रल से रविवार, 2 मई, 2021 को तथा भागलपुर से मंगलवार, 4 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09177/09178 मुंबई सेंट्रल- भागलपुर स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ मुंबई सेंट्रल से बुधवार, 5 मई, 2021 को तथा भागलपुर से शनिवार, 8 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09181/09182 बांद्रा टर्मिनस-दानापुर-वडोदरा सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ बांद्रा टर्मिनस से दानापुर के लिए मंगलवार, 4 मई, 2021 को तथा दानापुर से वडोदरा के लिए गुरुवार, 6 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09087/09088 उधना- छपरा सुपरफास्‍ट स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ उधना से शुक्रवार, 7 मई, 2021 को तथा छपरा से रविवार, 9 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09011/09012 उधना-दानापुर सुपरफास्ट स्‍पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ उधना से सोमवार, 3 मई, 2021 को तथा दानापुर से बुधवार, 5 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09413/09414 अहमदाबाद- कोलकाता स्‍पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ अहमदाबाद से बुधवार, 5 मई, 2021 को तथा कोलकाता से शनिवार, 8 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09453/09454 अहमदाबाद- समस्तीपुर स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ अहमदाबाद से रविवार, 9 मई, 2021 को तथा समस्‍तीपुर से बुधवार, 12 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09303/09304 डॉ. अंबेडकर नगर-गुवाहाटी स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ डॉ. अंबेडकर नगर से अपने विस्तारित फेरे पर शुक्रवार, 7 मई, 2021 को 12.45 बजे रवाना होकर रविवार को 15.00 बजे गुवाहाटी पहुंचेगी तथा वापसी में अपने विस्तारित फेरे पर गुवाहाटी से सोमवार, 10 मई, 2021 को 05.15 बजे रवाना होकर बुधवार को 05.30 बजे डॉ. अंबेडकर नगर पहुँचेगी।

• ट्रेन नंबर 09127/09128 सूरत- सूबेदारगंज सुपरफास्ट स्‍पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ सूरत से सोमवार, 3 मई, 2021 को सूबेदारगंज से मंगलवार, 4 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09129/09130 वडोदरा-दानापुर स्‍पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ वडोदरा से सोमवार, 3 मई, 2021 को तथा दानापुर से मंगलवार, 4 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09131/09132 वडोदरा- सूबेदारगंज स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ वडोदरा से शनिवार, 1 मई, 2021 को तथा सूबेदारगंज से रविवार, 2 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09467/09468 अहमदाबाद- दानापुर स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ अहमदाबाद से रविवार, 2 मई, 2021 को तथा दानापुर से मंगलवार, 4 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

• ट्रेन नंबर 09521/09522 राजकोट- समस्तीपुर स्पेशल ट्रेन विशेष किराये के साथ राजकोट पर बुधवार, 5 मई, 2021 को तथा समस्तीपुर से शनिवार, 8 मई, 2021 को विस्‍तारित की गयी है।

कोविड की मौजूदा स्थिति के मद्देनज़र कम माँग को देखते हुए ट्रेन संख्या 02414/02413 हज़रत निज़ामुद्दीन- मडगाँव वाया वसई रोड स्‍पेशल ट्रेन को अगली सूचना तक रद्द कर दिया गया है। इन ट्रेनों का निरस्‍तीकरण हज़रत निजामुद्दीन से 30.04.2021 से और मडगांव से 02.05.2021 से प्रभावी होगा।

ट्रेन नंबर 09417, 09011, 09049, 09127, 09129, 09131, 09073, 09061, 09175 की बुकिंग 30 अप्रैल, 2021 को, ट्रेन नंबर 09123, 09087, 09099, 09413, 09453, 09467, 09521, 09177, 09181 की बुकिंग 1 मई, 2021 को तथा ट्रेन नंबर 09303 की बुकिंग 2 मई, 2021 को नामित यात्री आरक्षण केन्‍द्रों और आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर शुरू होगी। उपरोक्‍त स्‍पेशल ट्रेनें विशेष किराये के साथ पूर्णत: आरक्षित ट्रेनों के रूप में चलेंगी। ट्रेनों के ठहराव, परिचालन समय, संरचना, बारम्‍बारता और संचालन के दिनों से संबंधित विस्तृत जानकारी के लिए यात्री www.enquiry.indianrail.gov.in पर जाकर अवलोकन कर सकते हैं। उल्लेखनीय है कि इन स्‍पेशल ट्रेनों में कंफर्म टिकट वाले यात्रियों को ही यात्रा की अनुमति होगी। पश्चिम रेलवे द्वारा यात्रियों को बोर्डिंग, यात्रा और गंतव्य के दौरान कोविड-19 से संबंधित सभी मानदंडों तथा एसओपी का पालन करने का अनुरोध किया गया है।

पश्चिम रेलवे द्वारा 11 जोड़ी स्‍पेशल ट्रेनों में जोड़े जायेंगे अतिरिक्‍त डिब्‍बे

यात्रियों की सुविधा और अतिरिक्त भीड़ के लिए पश्चिम रेलवे द्वारा 11 जोड़ी स्‍पेशल ट्रेनों में अस्‍थायी तौर पर अतिरिक्‍त डिब्‍बे जोड़ने का निर्णय लिया गया है।

  1. ट्रेन नंबर 09021/09022 बांद्रा टर्मिनस- लखनऊ स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच बांद्रा टर्मिनस से 01/05/2021 से 29/05/2021 तक तथा लखनऊ से 02/05/2021 से 30/05/2021 तक जोड़ा जाएगा।
  2. ट्रेन नंबर 02901/02902 बांद्रा टर्मिनस- उदयपुर सिटी स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच बांद्रा टर्मिनस से 04/05/2021 से 29/05/2021 तक तथा उदयपुर सिटी से 05/05/2021 से 30/05/2021 तक जोड़ा जाएगा।
  3. ट्रेन नंबर 09019/09020 बांद्रा टर्मिनस-हरिद्वार स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच 01/05/2021 से 31/05/2021 तक तथा हरिद्वार से 02/05/2021 से 01/06/2021 तक जोड़ा जाएगा।
  4. ट्रेन नंबर 09209/09210 वलसाड-पुरी स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच वलसाड से 06/05/2021 से 27/05/2021 तक तथा पुरी से 09/05/2021 से 30/05/2021 तक जोड़ा जाएगा।
  5. ट्रेन नंबर 09055/09056 वलसाड-जोधपुर स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच वलसाड से 04/05/2021 से 25/05/2021 तक तथा जोधपुर से 05/05/2021 से 26/05/2021 तक जोड़ा जाएगा।
  6. ट्रेन नंबर 09051/09052 वलसाड- मुजफ्फरपुर स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच वलसाड से 01/05/2021 से 29/05/2021 तक तथा मुजफ्फरपुर से 03/05/2021 से 31/05/2021 तक जोड़ा जाएगा।
  7. ट्रेन नंबर 09243/09244 वलसाड- कानपुर सेंट्रल स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच वलसाड से 05/05/2021 से 26/05/2021 तथा कानपुर सेंट्रल से 07/05/2021 से 28/05/2021 तक जोड़ा जाएगा।
  8. ट्रेन नंबर 02941/02942 भावनगर टर्मिनस- आसनसोल स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच भावनगर टर्मिनस से 04/05/2021 से 25/05/2021 तक तथा आसनसोल से 06/05/2021 से 27/05/2021 तक जोड़ा जाएगा।
  9. ट्रेन नंबर 02911/02912 इंदौर- हावड़ा स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच इंदौर से 04/05/2021 से 29/05/2021 तक तथा हावड़ा से 06/05/2021 से 31/05/2021 तक जोड़ा जाएगा।
  10. ट्रेन नंबर 02905/02906 ओखा- हावड़ा स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त स्लीपर क्लास कोच ओखा से 02/05/2021 से 30/05/2021 तक तथा हावड़ा से 04/05/2021 से 01/06/2021 तक पूर्व हावड़ा से तक जोड़ा जाएगा।
  11. ट्रेन नंबर 09103/09104 केवडिया- वाराणसी स्पेशल ट्रेन में एक अतिरिक्त एसी 3 टियर कोच केवडि़या से 04/05/2021 से 25/05/2021 तक तथा वाराणसी से 06/05/2021 से 27/05/2021 तक जोड़ा जाएगा।

सूरत एयरपोर्ट से चेन्नाई भेजा जा रहा गाँजा पकडाया

सूरत एयरपोर्ट पर भरूच से चेन्नाई भेजे जा रहे गाँजा पकड़ा गया। इसे भरूच के चेतना एंटरप्राइज की ओर से चेन्नई के अन्ना नगर ईस्ट के चिंतामणी आइसक्रीम के पास भेजा जा रहा था।


एयरपोर्ट ओथोरिटी के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एयरपोर्ट पर से यात्रा कर रहे यात्रियों के वस्तुओं की स्कैनिंग की जाती है। उसके बाद सब क्लीयर हो जाने पर जाने दिया जाता है। इसी तरह कुरियर से आए बॉक्स आदि की भी जाँच की जाती है। चेन्नाई की फ्लाइट में पार्सल लोड किए जा रहे थे उस दौरान पुट्ठे के एक बॉक्स में चार छोटे छोटे बॉक्स दिखाई दिए। ये मामला अथॉरिटी को संदेह जनक लगा और उन्होंने ई टी डी (एक्सप्लोसिव ट्रेस डिटेक्शन) द्वारा जाँच की तो उन छोटे बॉक्स में ड्रग्स होने की जानकारी सामने आई।

इसके बाद तुरंत नार्कोटिक्स और डुमस पुलिस को मामले की जानकारी दी गई। जानकारी मिलते ही एयरपोर्ट सिक्योरिटी इनचार्ज अम्बाती राव और डुमस पुलिस के पी आई ने अमेज़न डॉट इन वाले इस बॉक्स को खोला जिसमे चार छोटे छोटे डिब्बों में से कुल लगभग 27 ग्राम (26.75 ग्राम) गांजा मिला। इस गांजा की कीमत 267 रुपए है।जाँच करने पर कूरियर से ये सामान आया था।

इस बॉक्स को भरूच के चेतना एंटरप्राइज की ओर से चेन्नई के अन्ना नगर ईस्ट के चिंतामणी आइसक्रीम के पास भेजा जा रहा था।इसके बाद जानकारी भरूच पुलिस को सौप के आगे कार्यवाही का आदेश दिया गया। ऐसे में हैरानी की बात ये है कि फ्लाइट से इस बॉक्स को भेजने का कम से कम 15 सौ रुपए का चार्ज है जबकि इसके अंदर मात्र तीन सौ का गांजा हैं।उल्लेखनीय है कि इसके पहले सूरत एयरपोर्ट पर जब शारजाह से फ्लाइट थी तब यहाँ पर कस्टम विभाग ने कई बार सोने की तस्करी का पर्दाफ़ाश किया है।