क्रेडिट कार्ड बंद करवाने के चक्कर में लाखो गँवाएँ!

सूरत. क्रेडिट कार्ड बंद करवाने की कोशिश कर रहे डिंडोली क्षेत्र के प्लम्बर के अकाउंट ठगों ने 2.30 लाख रुपए निकाल लिए। डिंडोली पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की हैं। डिंडोली के सेतवान यादव के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के क्रेडिट कार्ड के जरिए उसके खाते से 3 हजार 500 रुपए कट गए थे। उसने 30 जून को अपना कार्ड बंद करवाने के लिए कार्ड पर नजर आ रहे कस्टमर केयर नम्बर पर कॉल किया।

दोनों अलग अलग नम्बरों पर कोशिश की लेकिन नम्बर एंगेज मिले। कुछ समय बाद उसके मोबाइल पर कॉल आया और फोन करने वाले अपनी पहचान कस्टमर केयर अधिकारी के रूप में दी। उमेश ने अपनी समस्या बताई और कार्ड बंद करने को कहा। इस पर सामने वाले ने उमेश को एप डाउनलोड करने के लिए कहा और ओटीपी ले लिया।

उसके बाद कहा कि दो हजार रुपए आपके खाते में रिटर्न हो जाएगें। अगले दिन फिर उसका कॉल आया और कार्ड बंद करवाने की प्रोसेस के बहाने विश्वास में लिया। दो दिनों में उसके बैंक खाते से २.३० लाख रुपए पार कर दिए। उमेश ने थाने में लिखित शिकायत दी

सूरत: वेसू के वीआईपी रोड पर स्पा की आड़ में गलत काम! 8 लड़कियाँ डिटेन, 8 रईश पकडाए

सूरत. वेसू के वीआईपी रोड पर एंटी ह्युमन ट्रैफिकिंग यूनीट ने शनिवार को स्पा के आड में चल रहे देह व्यापार के अड्डे पर छापा मार कर आठ युवतियों को मुक्त करवा करवाया और स्पा के संचालकों समेत आठ को पकड लिया हैं। पुलिस को जानकारी मिली थी कि वेसू स्थित मारवेला कॉरिडोर में अंबेज स्पा में बाहर से युवतियों को बुला कर स्पा की आड में देह व्यापार करवाया जाता हैं।

पुलिस ने टीम ने शनिवार शाम को स्पा पर छापा मारा। वहां युवतियों से देह व्यापार करवाया जा रहा था। पुलिस टीम ने मौके से स्पा के संचालक बमरोली कैलाशनगर निवासी कुलदीपसिंह उर्फ पंकजसिंह, वडोद गणेशनगर आवास निवासी निलेश सिंह, ग्राहक नवसारी निवासी राहुल भट्ट, भावेश प्रजापति, अमरोली निवासी प्रशांत ठक्कर, लिम्बायत निवासी विपुल निकम, करण कुंवर व दामका गांव निवासी विजय को पटेल को गिरफ्तार किया।

पुलिस ने स्पा से आठ युवतियों को मुक्त करवाया। यहां उल्लेखनीय हैं कि इससे पहले भी वेसू स्थित मारवेला कोरीडोर में लंबे समय से स्पा की आड में देह व्यापार का गोरखधंधा चल रहा हैं। पहले भी कई बार यहां छापे पड़ चुके हैं।पुलिस ने मौके से नकदी मोबाइल फोन समेत 52 हजार 730 रुपए का सामान भी जब्त किया हैं।

सूरत: स्वामीनायारण मंदिर में वर्चस्व को लेकर संतो और हरिभक्तों के बीच विवाद

सूरत. पुणागाम शंकरनगर स्थित स्वामीनायारण मंदिर में वर्चस्व को लेकर संतो और हरिभक्तों के बीच विवाद होने की जानकारी सामने आई हैं। पुलिस तक मामला पहुंचने पर पुलिस को मध्यस्थी करनी पड़ी। पुलिस ने २३ हरिभक्तों के खिलाफ मामला दर्ज किया हैं।


मिली जानकारी के अनुसार पूणा दाम के शंकर नगर के मंदिर में महिलाओं समेत कुछ हरिभक्तों ने मंदिर में प्रवेश कर शुक्रवार को हंगामा मचाया। मंदिर जहां महिलाओं को प्रवेश की अनुमति नहीं है। कुछ महिलाएं वहां भी पहुंच गई।

इस पर पुजारी व संतो ने उन्हें रोकने का प्रयास किया। इस पर उन्होंने हंगामा मचाया और धक्का मुक्की कर मंदिर में लगे शीशे तोड़ दिए। उसके बाद सुबह भी महिलाओं समेत हरिभक्तों ने मंदिर पर हंगामा मचाया। इस संबंध में पुजारी से शिकायत मिलने पर कार्रवाई की गई और हंगामा मचा रहे हरिभक्तों को मौके से डिटेन किया गया।


वहीं हरिभक्तों का पक्ष रखते हुए एक हरिभक्त दिनेश ने आरोप हैं कि स्थानीय भक्तों ने अपनी संतानों में संस्कार के सिंचन के लिए बचत के पांच सौ से एक हजार रुपए का दान कर मंदिर का निर्माण करवाया था। लेकिन दानदाताओं को ही मंदिर में प्रवेश करने से रोका जाता हैं उन्हें भजन किर्तीन नहीं करने दिया जाता हैं। ट्रस्टी व संत मंदिर पर अपना दावा करते हैं। हरिभक्तों को प्रवेश करने से रोकने के लिए उन्होंने शुक्रवार को मूर्ति के सामने लगे शीशे तोड़ दिए और फिर बुला कर उनके खिलाफ कार्रवाई की।


यहां उल्लेखनीय हैं कि स्वामीनारायाण मंदिर वड़ताल स्वामीनारायण संप्रदाय से संलग्न हैं। वड़ताल के गादीपति राकेश प्रसाद महाराज व अजयेन्द्र प्रसाद महाराज के बीच वर्षो से वर्चस्व की लड़ाई जारी हैं। जिसके चलते उनके समर्थक भी दो गुट में बंट गए हैं दोनों पक्षों के बीच लंबे समय से मनमुटाव है।

सूरत: शिवशक्ति मार्केट की घटना के बाद फोस्टा ने दी व्यापारियों को श्रमिको का बायोडाटा रखने की सलाह!

surat textile market


कपड़ा बाजार में बीते लंबे समय से दुकानदार उनकी दुकानों में काम करने वाले श्रमिकों के प्रति विश्वास की भावना से आगे बढते रहे हैं। इतना ही नहीं ज्यादातर व्यापारी श्रमिकों के सुखदुख में भी साथ में खड़े रहते हैं। श्रमिक भी दुकानो में उतनी ही इमानदारी से कर्तव्य निष्ठता दिखाते है. लेकिन पिछले दिनों रिंगरोड शिवशक्ति टेक्सटाइल मार्केट में जो घटना घटित हुई उससे व्यापारी दुखी है।

इससे बाजार में अविश्वास का माहौल खड़ा हुआ है। उसको ध्यान रखते हुये फोस्टा ने सभी व्यापारियों से श्रमिकों को नौकरी देते समय उनके बायोडाटा आदि अपने पास रखने और पुलिस में भी जानकारी देने की अपील की है। फोस्टा के महामंत्री चंपालाल बोथरा ने कहा कि पिछले दिनों शिवशक्ति मार्केट में जिस तरह की घटना हुई वह चिंताजनक है।

इस तरह की घटना के लिए व्यापारी भाइयों को चाहिए कि अपनी – अपनी दुकान के सभी स्टॉफ कर्मचारी, मजदूर का व्यक्तिगत माहिती उसका आधारकार्ड इत्यादि का सम्पूर्ण डिटेल का फार्म भरवाकर रखें। पुलिस विभाग द्वारा व्यापारी की सुरक्षा तथा गलत कृत्यों के करने वाले के खिलाफ पुलिस कार्यवाही में उपरोक्त जानकारी आवश्यक है।अत: सभी व्यापारी अपनी -अपनी दकान के समस्त स्टॉफ की डिटेल बनाकर रखें । आवश्यक पड़ने पर पुलिस वेरीफिकेशन कराया जा सकता है।

कोरोना काल में महिलाओं को सशक्त बनाने, स्वयं का एक दिवसीय मेगा प्रदर्शनी 2 अगस्त को!


कोरोना काल में कई व्यापार उद्योग की हालत तंग है। ऐसे में महिलाओं को सशक्त बनाने के उद्देश्य से स्वयं संस्था द्वारा एक दिवसीय मेगा प्रदर्शनी का आयोजन 2 अगस्त 2021 को सिटीलाइट स्थित माहेश्वरी भवन में किया गया है। इस प्रदर्शनी में तकरीबन 80 महिलाएं पार्टिसिपेट कर अपना हुनर एक क्षेत्र के नीचे यानी अपने द्वारा तैयार किए गए वस्तुएं प्रदर्शनी में रखेंगी।

इस कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी स्वयं की फाउंडर मेंबर्स रितु गोयल, शशी जैन, विमल अग्रवाल, रेखा कानूनगो एवं उमा जालान ने संयुक्त रुप से दी है। रितु गोयल ने बताया कि महिलाओं को सशक्त बनाने के उद्देश्य से स्वयं संस्था का गठन मार्च 2019 में किया गया था, तब तकरीबन 35 महिला सदस्य थी। आज कोरोना काल के बावजूद संस्था के साथ 200 से अधिक महिलाएं जुड़ चुकी हैं।

संस्था की विमल अग्रवाल एव उमा जालान ने बताया कि इस प्रदर्शनी में शहर की अनेक विस्तार की सामान्य परिवार एवं स्लम विस्तार से महिलाएं भाग लेंगी शशि जैन ने बताया कि कार्यक्रम का उद्घाटन सोमवार को सुबह 10:30 बजे पार्षद रश्मि साबू के हाथों किया जाएगा। यह प्रदर्शनी सुबह 10:00 बजे से रात्रि 8:00 बजे तक रहेगा।

प्रदर्शनी का मूल उद्देश्य महिलाओं को प्लेटफार्म प्रदान करना है,ताकि सामान्य परिवार से ताल्लुक रखने वाली महिलाएं आत्मनिर्भर बन सके। संस्था की रेखा कानूनगो ने बताया कि हमारे साथ वन बंधु परिषद महिला समिति, अग्रवाल समाज ट्रस्ट महिला इकाई, अग्रवाल महिला मंच, लायंस क्लब आफ मिडवेस्ट एवं स्वरा संस्था हमारे कार्यों को बल प्रदान कर रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी संस्था के साथ जुड़ीं महिलाओं का विकास हो यही हमारा मुख्य उद्देश्य है।

सूरत:अलथान के बैंककर्मी ने की आत्महत्या, शेयरबाजार में 25 लाख का था निवेश!


सूरत के अलथान में शेयर बाजार के निवेशक ने अपने पार्टनर के बार-बार पैसे की मांग से परेशान होकर खुदकुशी कर ली है. अमित सुथार की शादी 6 महीने पहले ही हुई थी। पुलिस ने आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है और सुसाइड नोट मिलने के बाद आगे की जांच शुरू की है, सुसाइड नोट में आरोप लगाया गया है कि उसके 25 लाख रुपए शेयर बाजार में डालने के बाद भी अधिक पैसे के लिए जोर दे रहे थे।


मृतक की पत्नी बिनल सुथार ने बताया कि “मेरी शादी 30 दिसंबर, 2020 को हुई थी,”अमित एक राष्ट्रीय बैंक के क्रेडिट कार्ड विभाग में एजेंट था। उन्होंने शेयर बाजार में दोस्तों के साथ पार्टनरशिप में भी निवेश किया था। शुक्रवार दोपहर अमित ने फोन किया और कहा, ”मेरी तबीयत ठीक नहीं है.” मैं सोने के लिए जा रहा हूं। तुमको लेने नहीं आ सकता तुम रिक्शे से घर आओ, मैं शाम को घर आई और दरवाज़ा खटखटाता रही लेकिन अमित ने नहीं खोला। मैं घबरा गई और अपने पड़ोसी को मदद के लिए बुलाया।

कई प्रयासों के बाद, मैंने दरवाजा तोड़ दिया और कमरे में प्रवेश किया। चीख-पुकार सुनाई दी और सब लोग इकट्ठे हो गए, मुझे नहीं पता कि अमित के इस तरह का अंतिम कदम उठाने के पीछे क्या कारण हो सकता है। अमित की जेब से सुसाइड नोट मिला। जिसमें कमलेश पटेल और भार्गव चौधरी ने उल्लेख किया कि वे मुझसे 25 लाख रुपये लेकर शेयर बाजार में निवेश करने के लिए और पैसे मांग रहे थे। अमित एक महीने से मानसिक तनाव से ग्रसित था। लेकिन पूछने पर भी उसने कुछ नहीं कहा।

फिलहाल पुलिस ने सुसाइड नोट को कब्जे में ले लिया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार अमित आत्महत्या मामले की जांच की जा रही है। कमलेश और भार्गव से आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले की जांच की जा रही है। खटोदरा पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर रही है।

पिता और दादा के नाम एक समान होने पर जीएसटी विभाग ने कर वसूलने के लिए तीन लोगों की प्रोपर्टी अटैच की!

गुजरात सरकार के माल एवं सेवा कर विभाग के अधिकारी पिछले वर्षो के बाकी टैक्स की रिकवरी के लिए  एड़ी चोटी का जोर लगा रहा है ऐसे में करदाताओं की ओर से कई शिकायतें भी आ रही है। एक गांव में वैट के बकाया राशि की वसूली के लिए  पिता और दादा के एक ही नाम हो ऐसे  तीन लोगो की भूमि को जब्त कर लिया गया। इस बारे मे जीएसटी डिपार्टमेन्ट के उच्च अधिकारियों को शिकायत की गई है, लेकिन डिपार्टमेन्ट का कहना है कि पूरी जांच पड़ताल  के बाद और टैक्स रिकवरी के बाद जमीन छोड़ी जाएगी। दूसरी ओर डिपार्टमेन्ट अब तीन में से वाकई किस के नाम से टैक्स वसूल करना है इसकी जांच पड़ताल में जुट गया है।

अहमदाबाद में कारोबार कर रहे परेश रमणिकलाल पटेल (बदला हुआ नाम) नाम के शख्स की  वैट चोरी का मामला आया है. शख्स के पिता अहमदाबाद से 60 किलोमीटर दूर एक गांव में रहते हैं. इस गांव में रमणिकलाल दशरथलाल पटेल नाम के तीन व्यक्ति हैं।इस मामले में, परेश रमणिकलाल किसका पुत्र है यह पता नहीं चलने से  अधिकारी गांव में गए और रमणिकलाल दशरथलाल पटेल नाम के तीन व्यक्तियों की भूमि को जब्त लीइस प्रकार अन्य दो व्यक्ति, भले ही उनका परेश रमणिकलाल पटेल के साथ कोई संबंध नहीं है, उनकी जमीन भी अटैच कर ली । इससे भी जमीन मालिक कारण बिना परेशान हो रहे है।

दूसरे केस भी कुछ ऐसे ही हैं, आमतौर पर 10 साल वैट के केस नहीं किए जाते हैं, लेकिन अहमदाबाद कार्यालय द्वारा 2008 और 2011 के बीच दर्ज किए गए 10 साल पुराने एक मामले में, 11 साल पुराने विवाद के लिए जुलाई में व्यापारी के खिलाफ  केस कर व्यापारी को जेल करवाई गई है। वैट जानकारो का कहना है कि सामान्य तौर पर पुराने मामले में 10 साल बीत जाने के बाद शिकायत दर्ज नहीं की जा सकती है। लेकिन वस्तु एवं सेवा कर अधिनियम में वैट के पुराने मामलों को जीएसटी में स्थानांतरित करने की शक्ति है। इसका उपयोग कर डिपार्टमेन्ट पुराने केस निकाल रहा है।

व्यापारियों का आरोप है कि राज्य जीएसटी विभाग के अधिकारी मामले के पकड़े जाने के बाद दस से बारह साल से व्यापारियों को परेशान कर परेशान कर रहे हैं, अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश की अदालत, अहमदाबाद में पार्टी के वकील द्वारा एक तर्क दिया गया है. अहमदाबाद ही नहीं सूरत में भी राजकोट पार्टी के पुराने मामलों में उछाल देखने को मिल रहा है. अहमदाबाद ग्रामीण सत्र न्यायालय में दायर एक मामले में, आरोपी के वकील ने तर्क दिया कि 2008 और 2011 के बीच हुई एक घटना के लिए 1 जुलाई, 2021 को शिकायत दर्ज की गई थी। यह शिकायत 10 साल देरी से क्यों की गई, इस पर सवाल उठे हैं।

वकील ने तर्क दिया है कि जब व्यापारी माल का निर्यात करता है, तो वह सरकारी कार्यालय में निर्यात किए गए माल का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करता है। वैट कार्यालय उन्हें इस प्रमाण पत्र के आधार पर वैट का भुगतान करता है। दस साल बाद इन परिस्थितियों में विभाग ने एक जुलाई 2021 को शिकायत दर्ज कर आरोप लगाया कि उसने फर्जी प्रमाण पत्र पेश कर मुआवजा लिया है। इस शिकायत के आधार पर व्यवसायी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

पेट्रोल डीजल का कमिशन नहीं बढ़ने के कारण पेट्रोल पंप गुरूवार की दोपहर बंद रहेंगे

दक्षिण गुजरात में पेट्रोल पंप एसोसिएशन कमीशन बढ़ाने को लेकर आक्रामक मूड में है। एसोसिएशन की मांग है कि एक लीटर पेट्रोल-डीजल पर 3.10 रुपये का कमीशन बढ़ा कर 6. रूपए दिया जाए नहीं तो पेट्रोल डीजल पंप हर गुरुवार डीजल नहीं खरीदेगा।

साथ ही प्रत्येक गुरुवार दोपहर 1 से 2 बजे तक सीएनजी पंप बंद रहेंगे। पिछले चार साल से पेट्रोल, डीजल और सीएनजी पर कमीशन नहीं बढ़ाया गया है। जिसके खिलाफ दक्षिण गुजरात के 650 पंप भाग लेंगे। शुक्रवार को हुई बैठक में कमीशन बढ़ाकर रुपये करने की मांग की गई।


पेट्रोल एसोसिएशन के अध्यक्ष बचुभाई देसाई ने कहा, “हम पेट्रोल और डीजल नहीं खरीदेंगे, लेकिन उपभोक्ताओं को प्रभावित नहीं होने देंगे।” हम बचे हुए स्टॉक से ग्राहकों की मांग पूरी करेंगे। पिछले चार साल से पेट्रोल, डीजल और सीएनजी पर कमीशन नहीं बढ़ाया गया है।

वेसू की बिल्डर की पत्नी का नक़ली फ़ेसबुक अकाउन्ट बनाकर धमकी

उमरा थाना के वेसु क्षेत्र में रहने वाले एक युवक का अपनी गर्लफ़्रेंड से झगड़ा हो गया। इस झगड़े का समाधान करने गई बिल्डर की पत्नी का फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाकर युवक की गर्लफ़्रेंड ने उसे बदनाम करने की धमकी दी और कही यह अभी ट्रेलर है, अगर हमारे बीच से नहीं हटी तो देख लेना आगे क्या होगा?


वेसु में सिद्धि विनायक मंदिर के पास शिल्पा रेजीडेंसी में रहने वाले बिल्डर केतन नानालाल छतबर की पत्नी नेहा छतबर 8 अप्रैल को उसकी दोस्त सिमरन जोशी का फोन आया। सीमरन ने नेहा को बताया कि शुभम शर्मा ने फेसबुक आईडी बनाई है? आपकी तस्वीरें शुभम शर्मा नाम की आईडी पर अपलोड की गई हैं। तो नेहा ने जब तुरंत शुभम शर्मा की आईडी सर्च की तो उसमें अपनी फोटो देखकर नेहा चौंक गईं। नेहा ने अपनी आईडी प्रोफाइल में कॉन्टैक्ट इंफो में जाकर शिवन्या जैन के नाम से मेल आईडी चेक की।


फिर अगले दिन शिवन्या जैन का व्हाट्सएप कॉल आया। जिसमें शिवन्या प्रकाश जैन (निवास भवन संख्या 48, भागुनगर, अमरोली) ने नेहा को धमकी दी कि तुम मेरे और शुभम की बात से बाहर निकल जाओ, नहीं तो मैं तुम्हें बदनाम करने के लिए कुछ भी नहीं छोड़ूंगी हालांकि नेहा ने शिवन्या से कहा कि आपने, फर्जी आईडी बनाई और अपलोड की गई तस्वीरों को डिलीट कर दो लेकिन शिवन्या ने कहा कि यह अभी भी एक ट्रेलर है। अगर आप मेरे और शुभम के बीच आई तो फोटो अपलोड कर आपको बदनाम करने की धमकी दी। जिसके बाद नेहा ने पुलिस में मामला दर्ज कराया है।

शुभम शर्मा नेहा के पड़ोसी हैं और शिवन्या जैन उनकी दोस्त हैं। पिछले मार्च में जब शिवन्या शुभम से मिलने उसके घर आई तो नेहा शिवन्या को दोनों के बीच हुए झगड़े के बारे में समझाने गई। लेकिन शिवन्या का नेहा से झगड़ा भी हो गया था। शिवन्या ने अपनी दुश्मनी में उन्हें बदनाम करने के लिए फर्जी आईडी पर फोटो अपलोड कर दी थी।

शराबी ने पुलिसकर्मी को दो तमाचे जड दिए


गुजरात में गुरुवार की रात कोसंबा तहसील से हाथुरान गांव में शराब के नशे में अपनी पत्नी से बहस कर रहे शराबी को हिरासत में लेने जा रहे पुलिस पर शराबी ने हमला कर दिया, वर्दी फाड़कर फरार हो गया. मंगरोल तालुका के हाथुरान गांव के सीवन में डिवाइन विला रेजीडेंसी में पति-पत्नी का झगड़ा हो रहा था। कोसांबा पुलिस को सूचना देने के बाद टीम मोबाइल वैन में मौके पर पहुंची। एक शराबी अपनी पत्नी के साथ नशे की हालत में बहस कर रहा था और पिटाई कर रहा था।

पुलिस ने उसे पत्नी से झगड़ा न करने के लिए कहा और पुलिस की मोबाइल गाड़ी में बैठने को कहा। इस दौरान उसकी पत्नी बीच में आ गई और बोली तुम कहाँ की पुलिस हो तुम्हें किसने बुलाया।पुलिस ने उसकी पत्नी को बताया कि तुम्हारा पति नशे में है। हम आपके पति को थाने ले जा रहे हैं इस दौरान जब वह सरकारी वाहन में बैठने जा रहा था तभी नशे में धुत युवक ने मोहनभाई की वर्दी के बाएं कंधे के टांके को पकड़ लिया।

इस पर पुलिस कर्मी मोहनभाई ने उसे थाने शांत रहने को कहा लेकिन नशे में धुत चकचुर युवक ने मोहनभाई के गाल पर दो थप्पड़ मारे और गला घोंटने का प्रयास किया। यह देख समाज के अन्य लोग दौड़ पड़े।

नशे में धुत चकचूर युवक ने सोसायटी की दीवार कूद कंटीली जगह पर भाग गया। मौके से फरार हुए युवक को पुलिस ने समाज के लोगों की मदद से पकड़ा। युवक तेजसिंह मंगलसिंह देवड़ा और उनकी पत्नी का नाम दिलखुश था।पुलिस ने दोनों के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने, पुलिस से हाथापाई और मारपीट का मामला दर्ज किया है।