डीटीसी की साइट मे रफ हीरो की क़ीमत स्थिर रहने से हीरा उद्योग को मिली राहत!


सूरत
दुनिया मे रफ़ हीरों का व्यापार करने वाले सबसे बड़ी डायमंड ट्रेडिंग कंपनी ने अप्रैल महीने मे रफ हीरो की क़ीमत स्थिर रखने से हीरा उद्यमियों में राहत की साँस ली है। बीते कई दिनों से हीरा उद्योग में डिमांड की कमी के कारण रफ हीरो की क़ीमत और तैयार हीरो की क़ीमत में अंतर बढ़ता जा रहा था। ऐसे में डीटीसी कंपनी यदि रफ हीरो की क़ीमत बढ़ा ती या घटाती तो बाज़ार पर नकारात्मक असर पड़ने की आशंका थी। इसे देखते हुए डीटीसी कंपनी ने व्यापार हित मे यह फ़ैसला किया है।

हीरा उद्योग के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 1 साल से अधिक लंबे समय से हीरा उद्योग में परिस्थिति अच्छी नहीं है।अमेरिका तथा यूरोप जैसे देशों में लोगों की ओर से ख़रीद घटने के कारण कट और पॉलिश्ड हीरो का निर्यात घटते जा रहा है। हीरा उद्योग को इस परिस्थिति से उभारने के लिए हीरा उद्यमी लगातार प्रयास कर रहे हैं।बीते दिनों में कट और पॉलिश्ड हीरो की डिमांड बिलकुल घट जाने के कारण क़ीमत में भी गिरावट आ गई थी। इससे हीरा उद्यमियों को नुक़सान उठाना पड़ा था। कई हीरा उद्यमियों ने ज़्यादा क़ीमत मे रफ हीरे ख़रीदे थे। उन्हें कम क़ीमत मे तैयार हीरे बेचने पड़े। हीरा उद्योग में उतार-चढाव के बीच रफ हीरो की क़ीमत भी बड़े मायने रखती है।हीरा उद्यमियों की परिस्थिति को समझते हुए रफ डायमंड कंपनियो ने भी रफ हीरो की क़ीमत में कोई ज़्यादा उतार चढ़ाव नहीं कर रही है। अप्रैल महीने मे डीटीसी कंपनी ने जारी की साइट में रफ हीरो की क़ीमत स्थिर रखी है। इससे पहले मार्च महीने में भी रफ हीरो की क़ीमत स्थिर रखी थी।
जेम्स एंड ज्वेलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल के चेयरमैन विजय मंगुकिया ने बताया कि डीटीसी की साइट में कच्चे हीरो की क़ीमत में बढ़ोतरी या कमी नहीं आयी है। जो कि हीरा उद्यमियों के लिए अच्छी बात है। यदि रफ़ हीरो की क़ीमत घट जाती तो लोग तैयार हीरा भी कम क़ीमत पर माँगने लगते हैं और वह रफ हीरे की क़ीमत बढ़ी तो हीरा उद्यमियों को ऊँची क़ीमत बार रफ़ हीरे ख़रीदना पड़ता है। दूसरी ओर बाज़ार में पॉलिश्ड हीरो की क़ीमत नहीं बढ़ी है।ऐसे में महँगे रफ़ हीरे ख़रीदने से हीरा उद्यमियों को नुक़सान हो सकता है। रफ हीरो की क़ीमत स्थिर रहने से हीरा उद्योग के लिए परिस्थिति संतुलित रहेगी।

जीएसटीः ई-वे बिल बिना माल की बिक्री रोकने के लिए पैट्रोलिंग वैन की संख्या बढ़ाई!

सूरत
स्टेट जीएसटी विभाग करचोरी रोकने के लिए एड़ी चोटी का ज़ोर लगा रहा है।सेन्ट्रल बोर्ड ऑफ इन डायरेक्ट टैक्स एंड कस्टम की ओर से भी टैक्स चोरों को सबक़ सिखाने के लिए आए दिनों जीएसटी के नियमों में संशोधन किए जाते हैं।जीएसटी रिटर्न से लेकर ई-वे बिल में भी अब तक कई बार नियमों में परिवर्तन आ चुका है।इसके बावजूद जीएसटी चोरी करने वाले व्यापारी अलग अलग ढंग से टैक्सचोरी करने का प्रयास करते रहते हैं।कई बार बिना बिल के ही व्यापारी माल बेच देते हैं।इस तरह कि टैक्सचोरी रोकने के लिए सूरत में सड़कों पर मोबाइल पैट्रोलिंग वैन घूमते रहती है।इस मोबाइल वैन की संख्या अब से बढ़ा दी गई है।सूरत शहर में अब तक दो पेट्रोलिंग वैन हाईवे पर और सड़कों पर से आने वाले गाड़ियों पर वाच रखते थी और यदि तक हो तो गाड़ी रुकवाकर ड्राइवरों से ई- वे बिल मांग लेते। अब से पेट्रोलिंग वैन में अधिकारियों की संख्या और गाड़ी की संख्या बढ़ा दी गई है।सूरत में बड़े पैमाने पर कपड़ा बनता है।इसलिए बिना बिल के कपड़ों की ख़रीदारी भी कई लोग करते हैं। पेट्रोलिंग वैन की जाँच के दौरान बड़े पैमाने पर कपड़े के की टैक्स चोरी सामने आयी है।इसके अलावा इलेक्ट्रिक साधन, कैमिकल भंगार आदि भी पकड़े गए हैं। जीएसटी डिपार्टमेंट बिना बिल के बेचे जाने वाले माल पकड़कर ज़ब्त कर लेता है और माल बेचने वाले से जीएसटी की रक़म तथा पेनाल्टी वसूल करता है।
—-
जीएसटी विभाग करचोरो के खिलाफ सक्रिय
वर्तमान वित्तीय वर्ष में एक सूरत जीएसटी डिपार्टमेंट में सूरत में 12 करोड़ रुपए से अधिक की टैक्स चोरी पकड़ी है।जीएसटी डिपार्टमेंट ने बीते दिनों बड़े पैमाने पर ट्यूशन क्लासेज, ट्रैवल एजेन्सी,होटल संचालक सहित अन्य कई व्यापारियों पर छापेमारी की थी और र करोड़ रुपए की टैक्स चोरी भी पकड़ी थी। इसके पहले डिपार्टमेंट ने बोगस बिलिंग करने वालों के ख़िलाफ़ भी मुहिम शुरू करके सूरत में डेढ़ सौ से अधिक फ़र्ज़ी व्यापारी पेढ़ियां ढूंढ निकाली थी। इनके ख़िलाफ़ अभी भी डिपार्टमेंट जाँच कर रहा हैऔर जिन लोगों ने फ़र्ज़ी व्यापारियों से बिल ख़रीदा था उनसे रिकवरी की जा रही है।

दिल्ली में व्यापारियों का प्रदर्शन: पीएम मोदी के खिलाफ असम्मानजनक टिप्पणियों के खिलाफ मालदीव से व्यापार स्थगित करने की मांग

हाल ही में मालदीव के कुछ सरकारी लोगों द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ असम्मानजनक टिप्पणियों के जवाब में, कनफ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ( कैट) ने आज दिल्ली में एक प्रदर्शन मार्च का आयोजन किया, जिसमें व्यापारियों एवं निर्यातकों से मालदीव के साथ व्यापार स्थगित करने की ज़बरदस्त अपील की गई।

“मालदीव के साथ व्यापार स्थगित करें” के बैनर के साथ मार्च में शामिल व्यापारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ किए गए आपत्तिजनक टिप्पणियों पर अपना गहरा रोष और आक्रोश व्यक्त किया।

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि इस प्रदर्शन का उद्देश्य राजनीतिक सम्मान और सहयोग पर आधारित दो देशों के बीच संबंधों की महत्वपूर्णता पर ध्यान आकर्षित करना है। उन्होंने सरकार से उपयुक्त कदम उठाने के लिए आग्रह किया और प्रधानमंत्री के खिलाफ किए गए अपमानजनक टिप्पणियों के ख़िलाफ़ आवश्यक कदम उठाने की माँग की।

श्री खंडेलवाल ने कहा , “हम प्रधानमंत्री के खिलाफ किए गए किसी भी अपमानजनक टिप्पणी की निंदा में एकजुट खड़े हैं। व्यापार स्थगित करना एक प्रतीकात्मक कदम है जो हमारी मजबूत असंतुष्टि को बताने और मालदीव की सरकार को यह संदेश देगा कि यह टिप्पणी श्री मोदी के ख़िलाफ़ नहीं बल्कि पूरे भारत के ख़िलाफ़ है जिसकी जितनी निंदा की जाये कम है।

श्री खंडेलवाल ने बताया कि व्यापार स्थगित करना एक अस्थायी कदम है, जो स्थिति की गंभीरता को संकेत करता है इस गंभीर विवाद को शीघ्र निपटाने की दिशा में मालदीव की तुरंत माफ़ी माँगनी चाहिए ।

ગુજરાતમાં ઠેર ઠેર જે કમોસમી વરસાદ પડ્યો છે, એના કારણે ખેડૂતોને મોટાપાયે નુકસાન થયું: ઈસુદાન ગઢવી

ખેડૂતોને જે નુકસાન થયું છે તેનો કૃષિ વિભાગ દ્વારા સર્વે કરવામાં આવે અને તાત્કાલિક ધોરણે ખેડુતોને સહાય ચૂકવવામાં આવે છે: ઈસુદાન ગઢવી

આમ આદમી પાર્ટીના ગુજરાત પ્રદેશ પ્રમુખ ઈસુદાન ગઢવીએ રાજ્યમાં થયેલ કમોસમી વરસાદ મુદ્દે એક વિડીયોના માધ્યમથી પોતાની વાત રજૂ કરતા કહ્યું કે, ગુજરાતમાં ઠેર ઠેર જે કમોસમી વરસાદ પડ્યો છે એના કારણે ખેડૂતોને મોટાપાયે નુકસાન થયું છે. એવો અંદાજ લગાવવામાં આવી રહ્યો છે કે જીરાના પાકને, શિયાળુ પાકને, જે મગફળી લણણી ઉપર હતી તેને નુકસાન થયું છે, સાથે સાથે કપાસના પાકને પણ મોટાપાયે નુકસાન થયું છે. વિવિધ પાકને નુકસાન થયું છે અને સાથે સાથે એવા પણ સમાચાર મળ્યા છે કે વીજળી પડવાના કારણે છ લોકોના મૃત્યુ થયા છે.

અમે ગુજરાતની રાજ્ય સરકારને અપીલ કરીએ છીએ કે જે લોકોના મૃત્યુ થયા છે તેમના પરિવારને તાત્કાલિક ધોરણે સહાય ચૂકવવામાં આવે. સાથે સાથે ખેડૂતોને જે નુકસાન થયું છે તેનો કૃષિ વિભાગ દ્વારા સર્વે કરવામાં આવે અને તાત્કાલિક ધોરણે ખેડુતોને સહાય ચૂકવવામાં આવે છે એવી આમ આદમી પાર્ટીની માંગણી છે.

31 अगस्तः जानिए कैसा होगा आप का आज का दिन

आज का राशिफल

******************

31 अगस्त, 2023, गुरुवार

==================

मेष राशि : आपके निकटतम लोग ही नहीं चाहते कि आप आगे बढ़ें। इस समय थोड़ा सतर्क रहें और अपना काम पूरी ईमानदारी से करें। भितरघात वालों से सावधान रहें। कार्यस्थल पर विवाद की स्थिति निर्मित हो सकती है। आर्थिक मामले सुलझेंगे।

वृषभ राशि : विद्यार्थियों के लिए समय अनुकूल है। स्वयं को गंभीर रखें। आप का व्यवहार ही लोगों को आकर्षित करता है। व्यापार विस्तार के लिए कर्ज लेना पड़ सकता है। जीवनसाथी के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझें।

मिथुन राशि : रुके कार्यों में गति आयेगी। स्वयं को अकेला महसूस करेंगे। न्यायालयीन फैसला आप के पक्ष में हो सकता है। वैवाहिक जीवन सुखमय होगा। समय अनुकूल है। अल्प परिश्रम से ही लाभ होगा। रुका कार्य होने से हर्ष होगा।

कर्क राशि : किसी के जवाब का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। नौकरी में बदलाव के योग हैं। तकनीकी के प्रयोग से विद्यार्थी सफल होंगे। दांतों में विकार की संभावना है। मेहनत के अनुकूल फल प्राप्त नहीं होगा।

सिंह राशि : राजनीति से जुड़े जातकों के लिए समय सफलता लिए है। आपके कार्य की प्रशंसा होगी। अध्ययन के लिए कर्ज लेना पड़ सकता है। विवाह योग्य जातकों के लिए समय उपयुक्त है। कारोबारी यात्रा लाभप्रद होगी।

कन्या राशि : आय के नए स्रोत स्थापित होंगे। भाग्य का साथ और इष्ट आशीर्वाद से नई सफलता को प्राप्त करेंगे। नए शत्रु उभर सकते हैं। पारिवारिक खर्च बढ़ेगा। कार्य स्थल पर कुछ कर्मचारी आप का विरोध कर सकते है।

तुला राशि : अध्ययन में अवरोध आ सकते है। कार्य स्थल पर कर्मचारियों से परेशान रहेंगे। पेट संबंधित विकार उभर सकते हैं। जीवन साथी से अनादर प्राप्त हो सकता है। वाहन सुख संभव है।

वृश्चिक राशि : पराक्रम में वृद्धि होगी। कार्य पद्धति बदलने से लाभ होगा। रिश्तेदारों का आगमन हो सकता है। विरोधी परास्त होंगे। परिवार में किसी वृद्धजन का स्वास्थ बिगड़ सकता है। प्रेम प्रकट करने का उचित समय है।

धनु राशि : समय रहते अपने मन की बात कह दें। यदि आप सच्चे हैं, तो सफलता मिलेगी। आप के सीधेपन का लोग फायदा उठायेंगे, सतर्क रहें। व्यापार विस्तार के योग हैं। भवन परिवर्तन के योग हैं।

मकर राशि : कारोबार में जल्दबाजी में निर्णय लें। बीती बातों को लेकर अपना समय बर्बाद न करें। अपनों का साथ मन को शांति देगा प्रेम प्रसंगों के चलते विवाद संभव है। जीवन साथी का सहयोग मिलेगा। धनलाभ संभव है।

कुम्भ राशि : धार्मिक यात्रा की रूपरेखा बनेगी। विवाह प्रस्ताव संबंधों में बदल सकते हैं। मनचाही नौकरी मिलने के आसार हैं। भावनात्मक संबंधों में नजदीकियां आएंगी। लोगों से प्रशंसा सुनने को मिलेगी।

मीन राशि : वैवाहिक जीवन में तनाव बढ़ सकते हैं। दूर-पास की यात्रा का योग है। आपकी उन्नति में आ रही बाधा बरकरार रहेगी। समय रहते उचित विद्वानों का मार्गदर्शन लें। समय अभी अनुकूल नहीं है।

आज का पंचांग

===========

31 अगस्त 2023, गुरुवार

************************

तिथि      पूर्णिमा    07:07 AM

             प्रतिपदा   03:21 AM

नक्षत्र      शतभिषा  05:45 PM

करण      बव         07:07 AM

              बालव     05:12 PM

पक्ष         शुक्ल

योग         सुकर्मा   05:15 PM

वार          गुरुवार

सूर्योदय     05:58 AM

सूर्यास्त      06:44 PM

चन्द्रमा       कुम्भ

राहुकाल    01:57 – 03:32 PM

विक्रमी संवत्  2080

शक सम्वत  1945 (शोभकृत)

मास      श्रावण

शुभ मुहूर्त

अभीजित   11:55 – 12:46 PM

आज और कल का दिन खास 

*************************

31 अगस्त 2023 : आज भी कई जगह मनाया जाएगा रक्षाबंधन पर्व। भद्रा के हिसाब से रहेगा पर्व का मुहूर्त।

31 अगस्त 2023 : पूर्णिमा व्रत आज।

01 सितम्बर 2023 : कजली तीज का सिंजारा कल।

नवसारी में भारी बारिश, दो घंटे में नौ इंच बारिश

नवसारी मे तेज बारिश ने जनजीवन अस्त व्यस्त कर दिया है। शनिवार को सबके 10 से 12 बजे के बीच नौ इंच बारिश हुई। इसके पहले मौसम विभाग की ओर से नवसारी जिले में 19 और 20 जुलाई दो दिन के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. लेकिन इन दो दिनों में सामान्य बारिश हुई।

वहीं शुक्रवार को शाम 7 बजे के बाद नवसारी में मौसम में बदलाव आया और शुरू हुई बारिश ने 8 बजे धीरे-धीरे अपना रूप बदल लिया और शुरू हुई मूसलाधार बारिश से शहर की कई सड़कों पर पानी भर गया. जिसमें शहर के प्रवेश द्वार अहिंसा द्वार के पास, भारती टॉकीज, जूनाथाना, लुनसीकुई बाग के पास, गोलवाड, लाइब्रेरी, मनकोडिया सहित अन्य इलाकों में सड़कों पर बारिश का पानी भरने से परेशानी उठानी पड़ी। एक घंटे से अधिक की धुआंधार बारिश के बाद मेघा का जोर कम होने से सड़क का पानी कम हो गया। उधर, चिखली में रात 12 बजे से सुबह 6 बजे तक 6 घंटे में 3 इंच बारिश हुई। इसके साथ ही वांसदा, खेरगाम और गणदेवी तालुका में भी करीब ढाई इंच बारिश हुई और ऊपरी इलाकों में बारिश से कावेरी नदी का जलस्तर 4 घंटे में डेढ़ फीट बढ़ गया है. कावेरी नदी सुबह 6 बजे 11.50 फीट पर बह रही है, हालांकि अभी चिंता की कोई बात नहीं है क्योंकि नदी का स्तर चिंताजनक रूप से 19 फीट पर है.


नवसारी जिले के आदिवासी क्षेत्र के तालुकाओं में साल भर पानी और सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से वंसदा के जुज और केलिया गांवों में बांधों का निर्माण किया गया है। दोनों डेमो में अच्छी बारिश के कारण पानी आ गया है और ओवरफ्लो हो सकता है. केलिया बांध 90 फीसदी भराव के साथ हाई अलर्ट लेवल पर पहुंच गया है. बांध का ओवरफ्लो लेवल 13.40 मीटर है, जबकि बांध का लेवल 112.55 मीटर तक पहुंच गया है, इसलिए ओवरफ्लो से महज 0.85 मीटर की दूरी पर स्थित वांसदा, चिखली और गणदेवी के 23 से ज्यादा गांवों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है. वहीं जूज बांध का ओवरफ्लो लेवल 167.50 मीटर है, जो कुछ दिनों में 164.50 मीटर भरने पर ओवरफ्लो लेवल पर भी पहुंच जाएगा.

सूरतः ऑंख में दर्द और लाल हो जाने की बिमारी तेज़ी से बढी!

शहर में आंखों मे लाल और दर्द के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, अकेले सिविल और स्मीमेर की ओपीडी में रोजाना 300 से ज्यादा मरीज आ रहे हैं। एक सप्ताह पहले सिविल में प्रतिदिन औसतन 10 केस आते थे, जो अब 150 से अधिक हो गए हैं। डॉक्टर कह रहे हैं कि यह बीमारी हवा से नहीं बल्कि छूने से फैलती है, इसलिए बार-बार सैनिटाइजर और साबुन से हाथ धोना जरूरी है।

सिविल की डा प्रीति कपाड़िया ने कहा कि अन्य शहरों की तुलना में सूरत में मामले ज्यादा हैं. अगर दवा ले ली तो 3-4 दिन में ठीक हो जाता है, नहीं तो 10-12 दिन लग जाते हैं. किरण हॉस्पिटल के डॉ. संकित शाह ने बताया कि यह बीमारी बच्चों में अधिक होती है. यह बीमारी स्कूल में प्रति कक्षा 5-7 बच्चों में देखी जाती है। अगर स्कूल में 3-4 दिन की छुट्टी दे दी जाए तो बीमारी की चेन को रोका जा सकता है.

शहर में नेत्र संबंधी दवा मोक्सी फ्लोरोसिन, लोटी प्रेटनॉल, पायरी मोल और सी प्लाक्स की मांग 80 फीसदी तक बढ़ गई है। उधर, शहर के मेडिकल स्टोरों को सामान नहीं मिल रहा है। जिसके कारण मेडिकल स्टोर में दवा का स्टॉक धीरे-धीरे खत्म हो रहा है। ऐसे में मेडिकल स्टोर मालिक शहर में दवा का स्टॉक बढ़ाने की मांग कर रहे हैं।

संपर्क-जनित बीमारी को रोकने के लिए हाथों को साफ रखना जरूरी है।​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​साबुन से बार-बार हाथ धोने के अन्य उपयोग, हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग, और चश्मे का उपयोग यदि संक्रमित है

स्वच्छ अंकलेश्वर, हरा अंकलेश्वर: प्रदूषणमुक्त भविष्य के लिए एकजुट हों

“लेट्स डू इट इंडिया फाउंडेशन, इंडोरामा कॉर्पोरेशन के सहयोग से, 2 जुलाई, 2023 को गुजरात के संजली गांव में ‘स्वच्छ अंकलेश्वर, हरा अंकलेश्वर’ अभियान का आयोजन किया गया।”

“यह पहल का उद्देश्य अंकलेश्वर में एक सफाई गतिविधि का आयोजन करना था, जिसमें 200 से अधिक सहभागियों ने हिस्सा लिया। स्वच्छता अभियान के मुख्य उद्देश्य संजली गांव के स्थानीय निवासियों और आस-पास के क्षेत्रों को कचरे की उत्पादन और प्रभावी कचरा नियंत्रण उपायों के बारे में जागरूक करना था।”

“इवेंट सुबह 8:30 बजे शुरू हुआ, जहां सहभागियों को संगठन के मिशन और विज़न के बारे में जानकारी दी गई और इस पहल के माध्यम से जो उद्देश्य प्राप्त करना चाहता है, उसकी प्रमुख परियोजना के बारे में बताया गया। शुभम एयरी और संयम कुमार (परियोजना समन्वयक) ने परिचय भाषण दिया। सहभागियों को उनकी टी-शर्ट और कैप सौंपी गई और उन्हें उचित किट भी दी गई, जिसमें फेस मास्क, दस्ताने और कचरे के थैले शामिल थे, जिससे सफाई अभियान को करते समय सभी सुरक्षा उपाय लिए जा सकें। सफाई गतिविधि को 3 घंटे से अधिक के लिए आयोजित किया गया और सहभागियों ने 5 किलोमीटर से अधिक दूरी का क्षेत्र कवर किया।”

“लेट्स डू इट इंडिया” (एलडीआईआई) 2016 में प्रोफेसर पंकज चौधरी द्वारा स्थापित एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है। देश भर में 22 लाख सक्रिय स्वयंसेवकों के संघ के साथ एलडीआईआई पर्यावरण संरक्षण के कई अभियान और पहलों के माध्यम से सकारात्मक सामाजिक परिवर्त न लाने का प्रयास करता है। ये पहलें शिक्षा, शासन, स्वास्थ्य और आरोग्य, सफाई गतिविधियां, सतत पर्यटन और सांस्कृतिक गतिविधियों जैसे विभिन्न क्षेत्रों को सम्मिलित करने वाली होती हैं। संस्था का उद्देश्य विभिन्न प्रकार के कचरे और बढ़ती प्रदूषण के बारे में जागरूकता बढ़ाना है, जो पानी, जमीन और वायु की क्षय का कारण बनता है।

एलडीआईआई का अंतिम लक्ष्य केवल भारत को एक अवैध कचरा-मुक्त देश बनाने के नहीं है, बल्कि जरूरतमंद लोगों के लिए रोजगार के स्रोत बनाने का भी है। इस प्रयास के लिए विश्व के कई हिस्से एलडीआईआई के साथ मिलकर काम कर रहे हैं।

“स्वच्छ अंकलेश्वर, हरित अंकलेश्वर” एक अभियान है जो विशेष रूप से गुजरात के अंकलेश्वर शहर को लक्ष्य बनाता है, जो पेट्रोकेमिकल उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है। इस क्षेत्र में जनसंख्या की अधिकता होने के साथ ही नर्मदा नदी मुख्य जलस्रोत है, जो भरूच जिले को अंकलेश्व र से जोड़ती है। पेट्रोकेमिकल उत्पादन के कारण नदी में बढ़ती प्रदूषण के कारण स्थानीय मछुआरों का जीवन कठिन हो गया है। अंकलेश्वर में सफाई के प्रयासों का उद्देश्य शहर में स्वच्छता के बारे में जागरूकता पैदा करना है और बच्चों और वयस्कों में नैतिक मूल्यों का प्रचार करना है।

एलडीआईआई के संचालक और सफाई अभियान के समन्वयक प्रदीप कुमार सिंह ने विश्वास जताया है कि पर्यावरणीय जागरूकता हमारी दुनिया के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। अवैध कचरे द्वारा उत्पन्न होने वाले हानिकारक रासायनिक पदार्थों के बारे में हमें ज्ञात नहीं होता है। हमें स्वच्छ पर्यावरण की ओर एक कदम बढ़ाना चाहिए। संयम कुमार और शुभम एयरी ने प्रदीप कुमार सिंह की सफल अभियान की संचालन में सहायता की।

प्रदीप कुमार सिंह सहित ‘लेट्स डू इट इंडिया’ टीम ने महसूस किया है कि प्रदर्शन कार्यक्रम के सफल निष्पादन में उन्होंने अपना समर्थन प्रदान किया है इसलिए उन्होंने धन्यवाद व्यक्त किया है। महाशय बी.एस. पटेल (प्रेसिडेंट – पनोली इंडस्ट्रीज एसोसिएशन), प्रोफेसर श्री उम्मंग मोदी, महाशय हर्ष रामुभाई भारद्वाड, महाशय एम.एच. वधीर (एसएचओ), महाशय जतिन गुलाटी, महाशय मोहम्मद लारा, महाशय जतिन तलाती (सचिव – ग्राम पंचायत), श्रीमती रमिला बेन (प्रमुखाचार्य, सरकारी स्कूल – अंकलेश्वर), श्री आशीष पटेल (मानव संसाधन प्रमुख – इंडोरामा कॉर्पोरेशन), श्री अंकित वासवा (सरपंच – बाकरोल) और श्री अनिल शर्मा का समर्थन प्रदान करने के लिए।

सिरोलिमस ड्रग कोटेड बैलून (डीसीबी): स्टेंट का एक विकल्प

मुंबई, 7 जुलाई 2023: अंतर्राष्ट्रीय हृदय रोग विशेषज्ञ चुनिंदा संकेतों के लिए विभिन्न कोरोनरी धमनी रोगों (सीएडी) के उपचार में ड्रग इल्यूटिंग स्टेंट के उपयुक्त और आवश्यक विकल्प के रूप में विशेष दवा- लेपित बैलून (गुब्बारों) के उपयोग का समर्थन कर रहे हैं। यह विकल्प कई ब्लॉकों और अंतर्निहित स्थितियों वाले युवा रोगियों के लिए विशेष रूप से मूल्यवान है, जो ड्रग- एल्यूटिंग स्टेंट के साथ एंजियोप्लास्टी प्रक्रियाओं को अप्रभावी बना सकते हैं।

मिलान में ह्यूमनिटास रिसर्च हॉस्पिटल के निदेशक प्रोफेसर एंटोनियो कोलंबो ने कहा, “कोरोनरी हस्तक्षेप में ड्रग कोटेड बैलून (गुब्बारों ) का उपयोग लगातार बढ़ रहा है। “शुरुआत में इन- स्टेंट रेस्टेनोसिस को एड्रेस करने और अतिरिक्त स्टेंटिंग से बचने के लिए विकसित किया गया था, उनका अनुप्रयोग अब डे नोवो घावों तक विस्तारित हो गया है, विशेष रूप से छोटे पोत फैलाने वाले रोग के मामलों में, जहां रेस्टेनोसिस और स्टेंट थ्रोम्बोसिस का खतरा अधिक होता है। भारत में अत्यधिक प्रचलित बीमारियों में मधुमेह हैं। इसके अलावा, विशेष रूप से युवा रोगियों में कोरोनरी धमनी रोग जिसे आमतौर पर दिल का दौरा कहा जाता है की घटनाओं में वृद्धि हुई है। रोगियों और घावों के इन सबसेट के लिए, स्टेंटिंग एक आदर्श समाधान नहीं है, और दवा -कोटेड बैलून (गुब्बारे) धातु मचान के लिए एक उत्कृष्ट विकल्प प्रदान करते हैं। मैजिकटच सिरोलिमस कोटेड बैलून (एससीबी), अपनी उल्लेखनीय और सिद्ध सुरक्षा प्रोफ़ाइल और प्रभावकारिता के साथ 2015 से उपयोग में लिए जा रहे हैं।

यूके में बर्मिंघम हार्टलैंड्स अस्पताल के सलाहकार हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. संदीप बसवराजैया ने कहा, “मैजिकटच डिवाइस जटिल टेढ़ी- मेढ़ी कोरोनरी धमनियों में भी उत्कृष्ट वितरण क्षमता प्रदर्शित करता है। फैलने वाली बीमारी के मामलों में लंबे बैलून की आवश्यकता होती है, उन्हें दो मिनट के भीतर वितरित करना महत्वपूर्ण है। पारगमन के दौरान दवा के नुकसान को कम करने के लिए उन्हें मार्गदर्शक कैथेटर में पेश करना, अपनी असाधारण वितरण क्षमता के साथ, मैजिक टच लंबे समय तक फैले घावों के लिए एक आदर्श विकल्प है।

प्रोफेसर एंटोनियो कोलंबो और डॉ. संदीप बसवराजैया ने मुंबई के सोफिटेल होटल में कॉन्सेप्ट मेडिकल द्वारा आयोजित “सिरोलिमस ड्रग कोटेड बैलून (डीसीबी): कोरोनरी आर्टरी डिजीज (सीएडी) के दायरे का विस्तार” शीर्षक से शैक्षिक सत्र सह ज्ञान भोज में अपनी विशेषज्ञता साझा की। ज्ञान भोज में 100 से अधिक प्रतिष्ठित हृदय रोग विशेषज्ञों ने भाग लिया, जिन्हें अन्य वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञों द्वारा साझा किए गए ज्ञान और अनुभवों से भी लाभ हुआ। जिनमें मुंबई के प्रसिद्ध हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. कीर्ति पुनमिया, डॉ. अजीत मेनन, डॉ. वी. टी. शाह, डॉ. आनंद राव, डॉ. निमित शाह और डॉ. राहुल गुप्ता शामिल थे। सम्मानित अंतर्राष्ट्रीय संकाय उपरोक्त डॉक्टरों के पैनल में शामिल हुए और कई केस प्रेजेंटेशन और बातचीत के साथ आगामी तकनीक और ड्रग- कोटेड बैलून के विकल्प को प्रदर्शित किया।

कॉन्सेप्ट मेडिकल के एमडी और दुनिया के पहले सिरोलिमस ड्रग कोटेड बैलून के आविष्कारक डॉ. मनीष दोशी ने बताया, इस उपचार विकल्प के पीछे की क्रांतिकारी तकनीक है। “बैलून दवा और वाहक परिसर विशेष रूप से रक्तवाहिकाओं की दीवारों की आंतरिक परतों में प्रवेश करने और दवा की दीर्घकालिक रिहाई के लिए एक भंडार के रूप में कार्य करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह तंत्र कोरोनरी धमनी के पुन: संकुचन को प्रभावी ढंग से रोकता है।”

NIA की टीम सूरत में, एक से की पूछताछ

एनआईए (राष्ट्रीय जांच एजेंसी) ने रविवार को भागातालाव इलाके में रहने वाले 17 वर्षीय नाबालिग से पूछताछ की। वह अपने पिता के साथ मोबाइल की दुकान चलाता था । घंटों की पूछताछ के बाद नाबालिग को नोटिस देकर छोड़ दिया गया।

एनआईए की टीम रविवार शाम करीब चार बजे लखनऊ से सूरत पहुंची। एनआईए ने सूरत में जांच की. सूरत एस.ओ.जी. पुलिस निरीक्षक ए.पी. चौधरी के साथ भागातलाव इलाके में ऑपरेशन चलाया गया. 17 वर्षीय नाबालिग को हिरासत में लिया गया और एसओजी कार्यालय ले जाया गया। नाबालिग, जो अपने पिता के साथ एक मोबाइल फोन की दुकान चलाता है।

एनआईए ने पाकिस्तान संचालित व्हाट्सएप ग्रुप गजवा-ए-हिंद का सदस्य होने के संदेह में घंटों तक पूछताछ की। साथ ही उसके मोबाइल का डाटा भी गहनता से जांचा गया और मोबाइल जब्त कर लिया गया. शहर में उस समय हड़कंप मच गया जब अफवाह फैल गई कि भगतालाव के एक नाबालिग को एनआईए पूछताछ के लिए ले गई है। साथ ही स्थानीय पुलिस भी भागने लगी. घंटों की मैराथन पूछताछ के बाद एनए ने नाबालिग को उसके परिवार को नोटिस देकर रिहा कर दिया.


सूरत शहर में 2001 की सीमी बैठक के बाद से आतंकवादी गतिविधियों के लिए केंद्रीय एजेंसियों के रडार पर हैं। सूरत को शिकार बनाने के लिए 2008 में 29 बम लगाए गए थे। जून में ISKP (इस्लामिक स्टेट ऑफ खुरासान) की महिला आतंकी सुमेरा हनीफ शेख को सैयदपुरा वकील स्ट्रीट से गिरफ्तार किया गया था।

इसके पहलेडिंडोली के दीपक सालेके को पाकिस्तानी जासूसी एजेंसी आईएसआई के लिए काम करते हुए सूरत एसओजी ने पकड़ा था। यह शख्स चंद रुपयों के लिए भारतीय सेना के गोपनीय दस्तावेज पाकिस्तानी जासूस को देने के लिए तैयार था. उसके द्वारा भेजी गई फोटो के बदले पाकिस्तान से पैसे भी उसके खाते में आए थे. -एन की टीम एक साल में तीन बार सैराट में खोज करती है-