माँ को प्रेमी के साथ देख बेटे ने कर दी प्रेमी की हत्या

अहमदाबाद के बावला में महिला अपने प्रेमी के साथ भाग गई और शादी कर ली। यह बात पता चलने पर बेटे ने मां के प्रेमी को रास्ते से हटाने की साजिश रची. जिसमें बेटे और उसके दो दोस्तों ने मिलकर मां के प्रेमी की हत्या कर दी।

हत्या करने वाले आरोपी सीसीटीवी में कैद हो गए हैं। स्थानीय पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और घटना की जांच कर रही है। हत्या से पहले आरोपी मृतक के घर गया था और माँ को वापस भेजने के लिए कहा था लेकिन ऐसा नहीं होने पर चाकू के घाव मार कर हत्या कर दी. पूरी घटना का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है। हत्या के बाद आरोपित फ़रार हैं।


पुलिस सूत्रों के अनुसार बावला में केरल जीआईडीसी इलाके में सुरक्षा गार्ड के पद पर कार्यरत अरविंद बेलदार की हत्या कर दी गई। अरविंद के भाई भरतभाई ने मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी।अरविंदभाई को कुछ दिन पहले एक महिला से प्यार हो गया था और वह उसे अपने साथ ले आया था। घटना के बाद महिला का बेटा, भाई और एक अन्य व्यक्ति उसके घर आए और उसे धमकाया। बाद में यह धमकी हत्या में बदल गई।


मिली जानकारी के अनुसार 31 अगस्त की रात नयन बेलदार, राजू बेलदार और एक अन्य अजनबी ने जीआईडीसी में आकर हत्या को अंजाम दिया. पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। यह भी पता चला है कि कुछ दिन पहले जब आरोपी अरविंद के घर गए तो उसने प्रेमिका को वापस घर नहीं भेजने की बात कही थी। इस कारण उसकी हत्या कर दी गई।

अहमदाबाद के बुजुर्ग दंपत्ति की हत्या में चार लोग पहचाने गए

हेबतपुरा में शांति पैलेस बंग्ला में रहने वाले बुजुर्ग दंपत्ति अशोक भाई और उनकी पत्नी ज्योत्सना बहन की हत्या करके 2.45 लाख रूपए लूट कर फरार हो गए लुटेरों को पहचानने में पुलिस को सफलता मिली है। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार घटना को अंजाम देने के लिए 4 लोग दो बाइक पर आए थे। पुलिस ने आसपास के क्षेत्रों के 200 से अधिक सीसीटीवी कैमरा के फुटेज देखकर इसे ढूंढ निकाला।

अभी तक यह लोग पुलिस की पकड़ से दूर हैं। पुलिस ने घटना की जांच के लिए कुल 200 से अधिक सीसीटीवी कैमरे चेक किए और 70 लोगों से पूछताछ की है। पुलिस को आशंका है कि इन चोरों को बुजुर्ग दंपत्ति के घर से बड़े पैमाने पर सोना मिलने की आशंका थी। लुटेरे अशोक भाई और उनकी पत्नी ज्योत्सना बहन को बनाकर लूटने के लिए आए हो ऐसी भी आशंका व्यक्त की जा रही है। हालाँकि लुटेरों को पकड़े जाने के बाद ही पूरी जानकारी सामने आ पाएगी।


हेबतपुरा में शांति पैलेस बंग्ला में रहने वाले बुजुर्ग दंपत्ति अशोक भाई और उनकी पत्नी ज्योत्सना बहन की हत्या करके 2.45 लाख रूपए लूट कर फरार हो गए लुटेरों को पहचानने में पुलिस को सफलता मिली है। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार घटना को अंजाम देने के लिए 4 लोग दो बाइक पर आए थे।

पुलिस ने आसपास के क्षेत्रों के 200 से अधिक सीसीटीवी कैमरा के फुटेज देखकर इसे ढूंढ निकाला। हालांकि अभी तक यह लोग पुलिस की पकड़ से दूर हैं। पुलिस ने घटना की जांच के लिए कुल 200 से अधिक सीसीटीवी कैमरे चेक किए और 70 लोगों से पूछताछ की है। पुलिस को आशंका है कि इन चोरों को बुजुर्ग दंपत्ति के घर से बड़े पैमाने पर सोना मिलने की आशंका थी। लुटेरे अशोक भाई और उनकी पत्नी ज्योत्सना बहन को बनाकर लूटने के लिए आए हो ऐसी भी आशंका व्यक्त की जा रही है।

हालाँकि लुटेरों को पकड़े जाने के बाद ही पूरी जानकारी सामने आ पाएगी।स्थानीय पुलिस के अलावा, जेसीपी, डीसीपी, एसीपी सहित अहमदाबाद अपराध शाखा के लगभग 150 स्टाफ मामले की जांच में तैनात किया गया है। लगभग 150 से 200 सीसीटीवी कैमरा फुटेज चेक किए गए हैं।

घटनास्थल से घाटलोडिया तक के सीसीटीवी फुटेज की जांच क्राइम ब्रांच ने की। यही नहीं, शहर की अपराध शाखा के सभी दस्ते के पुलिस निरीक्षकों की एक टीम इस मामले में काम कर रही है।

अहमदाबाद क्राइम ब्रांच पूरी रात दोहरे हत्याकांड की जांच कर रही है। क्राइम जेसीपी, क्राइम डीसीपी और क्राइम एसीपी सहित सभी अधिकारी रात भर क्राइम ब्रांच में मौजूद रहे और हत्या की वारदात के साथ लूट का पता लगाने के लिए की कोशिश की। अभी तक जांच में ढाई लाख रूपए की ज्वैलरी और मालसामान की लूट किए होने का खुलासा हुआ है।

क्या था मामला?
अहमदाबाद के सोला इलाके में एक बुजुर्ग दंपति की हत्या लूट के इरादे से की होने की जानकारी सामने आ रही है। गुरूवार सबेरे हई इस इस घटना से अकेले रहने वाले वरिष्ठ नागरिकों में चिंता फैल गई है। पुलिस का क़ाफ़िला घटनास्थल पर पहुँच गया है और मामले की जाँच पड़ताल शुरू की गई है।पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की मदद से जाँच शुरू की है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, सोला के हेबतपुरा रोड पर शांति पैलेस बंगलों में एक बुजुर्ग दंपति अशोकभाई पटेल (71) और ज्योत्सनाबेन अशोकभाई पटेल की गला काटकर हत्या कर दी गई। सबेरे अचानक उनके चौकीदार ने चिल्लाकर आसपास के लोंगो को बुलाया तब यह मामला सामने आया।