सचमुच है परग्रहवासी? मिले सबूत, जांच शुरू

आपने कोई मिल गया फिल्म देखी होगी। इस फिल्म में अन्य ग्रहो पर जीव होने की बात बताई गई है। यदि सच में ऐसा हो तो आपने सोचा है कि क्या होगा? खैर यह तो कल्पना है लेकिन सच में कुछ ऐसी जानकारी सामने आ रही हैं जिसने की लोगों को सोचने को मजबूर कर दिया है।

बीते कुछ समय से न्यूजीलेन्ड,आस्ट्रेलिया,अमरिका आदि देशो में कई राज्यो में सुमशान स्थानों पर त्रिकोणाकरा चमकीले खंभे मिल रहे हैं. जो कि कौतूहल का विषय बने हैं। इसी तरह से
आकाश में 4.2 प्रकाश वर्ष दूरी प्रोक्सी में सेंचुरा नाम के तारा के ऊपर से रहस्यमय रेडियो सिग्नल धरती पर आए हैं। इन दोनो घटनाओं ने खगोलशास्त्रियों की नींद उडा़ दी है।

पहली घटना
प्रोक्सी में सेंचुरा नाम के तारे से सर्जित सिग्नल बीते साल ऑस्ट्रेलिया के पार्कस रेडियो टेलीस्कोप में अप्रैल और मई महीने के दौरान मिली थी। संशोधको का कहना है कि इस तरह के रेडियो सिग्नल आने के संकेत पहले भी कई बार मिल चुके हैं और यह सिग्नल धरती से गए स्पेसक्राफ्ट में से आए होने की बात मानी जा रही है। लेकिन इसके बावजूद सिग्नल कहां से आए इस बारे में खगोल शास्त्री चिंतित हैं।

इस घटना के बाद परग्रह वासियों की बात ने विश्वास पैदा कर दिया है। जहां से यह सिग्नल आया है वह प्रॉक्सी में सेंचुरी के दो ग्रहों के होने का माना जा रहा है। इसमें से एक उपग्रह धरती की अपेक्षा 17% बढ़ा है। जबकि दूसरा धरती जैसे ही हालात में जिसके चलते यह सिग्नल वहीं से आया है या नहीं इसकी जांच हो रही है। कई बार ब्रह्मांड में तारों में विस्फोट स्थल पाथल होते हैं तब ऐसे सिग्नल धरती पर आते रहते हैं। लेकिन इस पार प्रोक्सी में से सिग्नल आए होने की बात वैज्ञानिक मान रहे हैं।

धरती के आसपास के ब्रह्मांड से परग्रह वासियों को ढूंढने के लिए 2016 में 10 करोड़ डॉलर के खर्च से ब्रेक थ्रू लिसन नाम का प्रोजेक्ट शुरू किया गया है। इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में एक रेडियो टेलीस्कोप रखे गए हैं। जिसका काम शंकास्पद रेडियो सिग्नल की जांच करना है। 1977 में इस प्रकार के रेडियो सिग्नल मिले थे। जिसे की अंग्रेजी में डब्ल्यू ओओ कहां गया था। संशोधको का कहना था कि धरती को देखकर किसी पर ग्रामवासी ने वाउ लिख कर भेजा है।

दूसरी घटना
यदि आपको अचानक कहीं पर कोई बडी सा ईमारत या दिवाल खड़ी दिखे तो आप क्या सोंचेगें कि अचानक रातोरात यहां दिवाल कैसे आ गई। ऐसी ही घटना मेंअमेरिका के उटाह राज्य के एक स्थान पर रहस्यमय ढंग से एक खंभा जमीन में गाड़ा गया पाया गया था जिसको लोगों लेकर लोगों में तर्क वितर्क चल रहा है।

पोलैंड और रोमानिया में भी एक ऐसा ही खंभा देखा गया था जिसके पश्चात अब न्यूजीलैंड में फिर से एक त्रिकोण आकार खंभा देखा गया है। न्यूजीलैंड में क्रिस्ट चर्च के नजदीक एक एडवेंचर पार्क में त्रिभुजाकार वाला चमकता खंभा किसने जमीन में गाड़ा है। इसे लेकर सोशल मीडिया पर तर्क वितर्क लगाया जा रहा है।

इसके पहले पोलैंड के वोर्सो शहर के नजदीक एक नदी के किनारे इस तरह का खंभा रखा गया था। इन घटनाओं के पहले रोमानिया में भी ऐसा ही एक खंभा पाया गया था। इसके उपरांत ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड के करीब भी इसी तरह का खंभा जमीन में गड़ा मिला था। यह खंभे 3 कोण वाले और चमकदार होने से संदेशावाहक माने जा रहे हैं। ज्यादातर खंभे किसी सुनसान जगह पर पाए जाते हैं। कई लोग इसे देख कर आश्चर्य मान रहे हैं। तो कई लोग ऐसा कहते हैं कि दूसरे ग्रह से आने जाने वाले लोग खंभा फेक देते हैं ऐसा मान रहे हैं।