मॉ ने सिर्फ एक बात कही और दो बेटियों ने फांसी लगाकर जान दे दी

sucide

पता नहीं कैसा समय आया है कि घर के बच्चों को अगर कुछ ऊंची आवाज मे बोलना भी अपराध सा बन गया है। माता-पिता या घर के मुखिया बच्चों को कुछ समझाने के लिए फटकार लगा दे तो भी बच्चे कोई भी बड़ा कदम उठा लेते हैं। ऐसा ही एक वाकिया अमरेली के लाठी में हुआ। लाठी में महावीर नगर में अपनी दो नाबालिग बेटियों को खाना बनाने के लिए फटकार लगाने के बाद दो नाबालिग बहनों ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

घटना लाठी के महावीरनगर के मोती चौक इलाके में कल सुबह आठ बजे से दोपहर एक बजे के बीच हुई। राजूभाई दिनेशभाई बोरीचा की 15 साल की बेटी पायल और 14 साल की बेटी करीना ने अपने घर में ही गला घोंटकर हत्या कर दी।

दोपहर में जब राजूभाई के परिजन घर आए तो उन्हें घटना की जानकारी हुई। राजूभाई बोरिचा ने इस बारे में लाठी पुलिस को सूचित किया और स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों मृतक सगीरा के शवों को पीएम के लिए लाठी डिस्पेंसरी में भेज दिया. राजूभाई बारीचा ने लाठी पुलिस को बताया कि उन्होंने दोनों बेटियों को खाना बनाने के मामले में फटकार लगाई थी. इसी के चलते उन्होंने यह कदम उठाया है। हेड कांस्टेबल अशोक सिंह वाघेला घटना की आगे की जांच कर रहे हैं। एक ही समय में दोनों बहनों की मौत का कारण पिता द्वारा दी गई फटकार या फिर किसी अन्य गंभीर कारण से फांसी लगाई यह जांच की जा रही है।