हिट एन्ड रन का आरोपी अतुल वेकरिया पुलिस के सामने पेश हुआ

सूरत के यूनिवर्सिटी रोड पर हिट एन्ड रन केस में आरोपी अतुल वेकरिया बुधवार को पुलिस के समक्ष खुद उपस्थित हुआ। घटना के बाद अतुल वेकिरया को जमानत मिल गई थी, लेकिन बाद में युवती की मौत और अतुल वेकरिया नशे में गाडी चला रहे होने का साबित होने पर अतुल वेकरिया की गिरफ्तार का रास्ता साफ हो गया था लेकिन वेकरिया पुलिस के हाथ नहीं आ रहे थे। इस दौरान आज वह पुलिस स्टेशन में हाजिर हो गए।


गत 26 तारिख को यूनिवर्सिटी रोड पर तेजी से फोर व्हीलर चला कर आ रहे अतुल वेकरिया ने वेसू क्षेत्र में रहने वाली उर्वशी चौधरी की मोपेड को टक्कर मारी थी। जिससे कि उसके शरीर में गंभीर चोट लगी थी। उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। इस मामले में उमरा पुलिस ने पहले मोटर व्हीकल एक्ट के भंग का मामला दर्ज कर अतुल वेकरिया को इन्चार्ज कोर्ट में पेश करने पर जमानत मिल गई थी।

इसके बाद पुलिस ने इस मामले में सअपराध मनुष्य वध और डि्क एन्ड ड्राइव की धारा लगाने के लिए कोर्ट में रिपोर्ट किया थी। इसे मंजूरी मिलने के बाद अतुल वेकरिया की गिरफ्तारी का रास्ता साफ हो गया था। लेकिन अतुल पुलिस की पहुंच में नहीं आ रहा था।

इस दौरान अतलु ने कोर्ट में अग्रिम जमानत की गुहार लगाई है। जिसकी सुनवाई जल्दी होनी है। इस दौरान बुधवार को अतुल पुलिस स्टेशन में हाजिर हो गए। पुलिस ने अतुल का कोरोना रिपोर्ट करवाया जिसमें कि आरटीपीसीआर का रिपोर्ट बाकी है लेकिन रेपिड टेस्ट पॉजिटिव आया।पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू की है।

हिट एन्ड रन: अतुल वेकरिया की गिरफ़्तारी के प्रयास शुरू

सूरत में हाल में ही हुई एक हिट एन्ड रन की घटना ने पूरे शहर का ध्यान आकर्षित किया है। यह मामला हाइ प्रोफ़ाइल होने के कारण और तूल पकड़ रहा है। अब इस मामले की आग पुलिस के अधिकारियों तक पहुँच गई है।घटना के आरोपी अतुल वेकरिया को पहले पुलिस ने ज़मानत दी थी, मामला गंभीर होने के बाद कोर्ट ने जमानत रद्द कर दी है।

इसके बाद उमरा पुलिस अतुल वेकरिया को पकड़ने के लिए घर पर पहुँची लेकिन अतुल वेकरिया घर पर नहीं थे। दूसरी और पूरे मामले में उमरा के पुलिस इंस्पेक्टर पुलिस सब इंस्पेक्टर के खिलाफ भी जांच के आदेश दिए गए हैं।


मिली जानकारी के अनुसार वेसू क्षेत्र में बालाजी होंडा शोरूम के सामने अतुल बेकरी के मालिक अतुल बाबू वेकरिया ने नवसारी से आते समय अपनी कार से तीन मोपेड को धक्का मारा था। घटना में उर्वशी चौधरी नाम की अठ्ठाईस वर्षीय महिला की गंभीर ढंग से घायल हो गई थी और उसकी मौत हो गई।

इसके बाद अतुल वेकरिया की सिविल हॉस्पिटल में जांच करने पर वह शराब के नशे में धुत होने का खुलासा हुआ। वेकरिया के खिलाफ ड्रिंक एन्ड ड्राइव एक्ट की धारा के साथ 304 की धारा दाखिल करने के लिए कोर्ट में अर्जी की थी। कोर्ट की ओर से अतुल वेकरिया की जमानत रद्द कर दी गई।

इसके बाद पुलिस ने अतुल वेकरिया को गिरफ्तार करने के लिए उनके निवास स्थान पर छापा मारा। वहाँ वह नहीं पकड़े गए। इस मामले में पुलिस ने पहले 304-अ के तहत अपराध दर्ज किया था और बाद में धारा 304 के तहत अपराध दर्ज किया गया जिससे कि आप इस मामले में जांच करने वाले पीएसआई खिलाफ भी जांच के आदेश दिए गए हैं। इस मामले ने पूरे शहर का ध्यान खीचा है।

अतुल बेकरी के संचालक अतुल वेकरिया की मुसीबत बढी, धारा 304 दर्ज


सूरत शहर में चर्चास्पद बने अतुल बेकरी के मालिक के एक्सिडेंट कांड में नया मोड आ गया है। अतुल वेकरिया की मेडिकल रिपोर्ट में उन्होंने अल्कोहल नशा लिए होने का खुलासा हुआ है। इसके अलावा कोर्ट ने आईपीसी 304 की धारा लगाने की पुलिस की अर्जी को मंजूर कर लिया गया है। इसके बाद पुलिस ने अतुल वेकरिया की जमानत अर्जी को नामंजूर करने की प्रक्रिया तेज कर दी है।


पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पांच दिन पहले वेसु क्षेत्र में बालाजी होंडा शोरूम के सामने अतुल बेकरी के मालिक अतुल बाबू वेकरिया अपनी कार तेजी से दौडाते हए आ रहे थे। उस दौरान सड़क के किनारे खड़ी 28 साल की उर्वशी चौधरी नाम की महिला की मौत हो गई थी। घटना के समय वहां मौजदू लोगों का कहना था कि इस समय अतुल वेकरिया शराब के नशे में चूर थे।

सिविल होस्पिटल में मेडिकल जांच के बाद उमरा पुलिस ने अतुल वेकरिया ने शराब का नशा किए होने की पुष्टि हो गई है। इसलिए उनके खिलाफ पुलिस ने मोटर व्हीकल एक्ट 185 और आईपीसी 304 भी लगाने के लिए कोर्ट में अर्जी मांगी थी। कोर्ट ने इस अर्जी को स्वीकार कर लिया है। धारा 304 लगने के पहले अभी तक इस घटना की जांच पीएसआई एल एम चौधरी कर रहे थे लेकिन अब आईपीसी 304 जुड़ने के बाद उमरा पुलिस स्टेशन के पीआई झाला इस मामले की जांच करेंगे।

पहले इस मामले में सामान्य अपराध दर्ज किया गया था। जिसके चलते अतुल वेकरिया को जमानत मिल गई थी। लेकिन अब इसमें 304 भी दर्ज होने के कारण पुलिस ने अतुल वेकरिया की जमानत नामंजूर करने की प्रक्रिया तेज कर दी है। इधर दूसरी ओर इस 28 साल की उर्वशी चौधरी के परिवार जनों को लाखों रुपए देकर पूरा मामला ठंडा कर देने की कवायद चल रही है।

सूरत: हिट एन्ड रन केस, अतुल बेकरी के संचालक की बढ सकती है मुसीबत

शुक्रवार की देर रात शहर के वेसू क्षेत्र में शराब के नशे में हिट एंड रन के मामले में अतुल बेकरी के संचालक अतुल वेकरिया की समस्या बढते जा रही है। पुलिस ने सहअपराध मानव वध की धारा भी लगेगी। इस घटना में यूनिवर्सटी में नौकरी करने वाली एक महिला की मौत हो गई थी। इस बारे में उमरा पुलिस ने आईपीसी 279,337,338 और 304 के अंतर्गत अपराध दर्ज कर लिया है।


शुक्रवार की रात 9:00 बजे के करीब अतुल बेकरी के मालिक अतुल वेकरिया शराब के नशे में चूर होकर गाड़ी चला रहे थे। जिसमें की उन्होंने तीन बाइक को ठोकर मार दी। इसके बाद हिट एंड रन की इस घटना के कारण बड़ी संख्या में लोग वहां इकट्ठे हो गए और उन्हें पकड़ लिया था। लोगों ने घटना के बारे में पुलिस को जानकारी दी।

दुर्घटना में 28 साल की उर्वशी मनु भाई चौधरी की जान चली गई। पुलिस ने आरोपी अतुल वेकरिया की मेडिकल जांच भी करवाई। पुलिस जांच कर रही है कि अतुल वेकरिया ने शराब पी थी या नहीं? कहां पर शराब पी थी? शनिवार की दोपहर को अतुल वेकरिया को जमानत पर छोड़ दिया गया था। इस मामले में जॉइंट पुलिस कमिश्नर एच आर मूलियाना ट्राफिक एसीपी मेवाड़ा तथा उमरा पुलिस ने घटनास्थल पर विजिट की थी।


पुलिस के जांच में यह पता चल रहा है कि अतुल वेकरिया ने गाड़ी रोकने का प्रयास भी नहीं किया। उनकी इस लापरवाही के कारण एक युवती की की जान चली गई। अब पुलिस इस मामले में अतुल वेकरिया के खिलाफ अपराध मानव वध की धारा भी लगाएगी।आपको बता दें कि इस दुर्घटना में उर्वशी चौधरी की जान चली गई। वह यूनिवर्सिटी में कॉन्ट्रैक्ट पर जूनियर क्लर्क के तौर पर नौकरी करती थी। उसके छोटे भाई नीरज भी यूनिवर्सिटी में क्लर्क हैं। पिता यूनिवर्सिटी में चपरासी हैं वह अपने बड़े भाई के साथ वेसु में फ्रेन्की खाने गई थी।